बीत गए 4 साल, नहीं आया लोकपाल, जनता पूछे कब तक बजाओगे ‘झूठी ताल’: राहुल गांधी

January 6, 2018 by No Comments

नई दिल्ली: साल 2014 में केंद्र में सत्ता जमाने से पहले अन्ना हजारे द्वारा देश में लोकपाल बिल लाने के आंदोलन में बीजेपी के नेताओं ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया था और तत्कालीन कांग्रेस सरकार पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए गए थे।

लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान बीजेपी की तरफ से प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने देश के जनता से वादा किया था कि जब वह देश के प्रधानमंत्री बन जाएंगे तो लोकपाल की नियुक्ति करेंगे। दरअसल साल 2013 में संसद द्वारा लोकपाल बिल को पारित किया गया था, लेकिन प्रक्रियाओं से जुड़ी कमियों के कारण पिछले चार साल से लोकपाल की नियुक्ति नहीं हो पा रही है।
इस मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र में सत्तारूढ़ मोदी सरकार को निशाने पर लिया है। राहुल ने इस मामले में सोशल मीडिया साइट ट्विटर पर ट्वीट कर लिखा, ‘बीत गए चार साल/ नहीं आया लोकपाल/ जनता पूछे एक सवाल/ कब तक बजाओगे ‘झूठी ताल’?’

इस ट्वीट में राहुल ने लोकपाल बिल पास करने को लेकर पीएम मोदी द्वारा दिसंबर 2013 में ट्विटर पर किए गए एक ट्वीट का स्कीनशॉट भी शेयर किया है। उस वक़्त पीएम मोदी गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री थे। इस ट्वीट में पीएम मोदी ने लिखा था कि लोकपाल विधेयक पास करने में बीजेपी नेता सुषमा स्वराज और अरुण जेटली के नेतृत्व में भाजपा सांसदों की ओर से निभाई गई सकारात्मक और सक्रिय भूमिका पर मुझे गर्व है।

राहुल ने इस ट्वीट के साथ पीएम मोदी और बीजेपी द्वारा जनता को बेवकूफ बनाने पर तंज कसा है। उन्होंने बीजेपी से सवाल खड़ा है कि लोकपाल की नियुक्ति को जनता को कब तक मूर्ख बनाया जाएगा ? लोकपाल और लोकायुक्त कानून, 2013 के तहत केंद्र में लोकपाल और राज्यों में लोकायुक्त की नियुक्ति का प्रावधान है

लोक सेवकों के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच के लिए लोकपाल और लोकायुक्तों की नियुक्ति करनी होती है। जोकि केंद्र सरकार द्वारा अभी तक नहीं की गई है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *