सेना का अपमान, भारतीयों का अपमान, भागवत जी आपको शर्म आनी चाहिए: राहुल गांधी

February 12, 2018 by No Comments

नई दिल्ली: भारतीय सेना के खिलाफ विवादित बयान देने पर आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत विपक्ष के निशाने पर आ गए हैं। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोशल मीडिया साइट ट्विटर पर मोहन भागवत के उस बयान की आलोचना की है। राहुल ने ट्वीट कर कहा है कि यह उन लोगों का अपमान है जिन्होंने इस देश के लिए अपनी जान गँवाई है और जो आज भी इस देश के लिए अपनी जान दे रहे हैं।

यह हमारे तिरंगे का भी अपमान है क्यूँकि हमारी सेना के जवान इसे सैल्यूट करते हैं। सेना और शहीदों का अपमान करने पर उन्हें शर्म आनी चाहिए। इसके साथ राहुल ने आरएसएस से मोहन भागवत के इस बयान के लिए उनसे मांफी की मांग की। सेना से आरएसएस की तुलना कर देने के कारण सोशल मीडिया पर मोहन भागवत की काफी आलोचना हो रही है।

वहीँ इस मामले में आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने कहा है कि ये बयान आरएसएस प्रमुख भागवत ने दिया है इसलिए बीजेपी नेताओं के मुंह बंद हैं। अगर ये बयान किसी दूसरी पार्टी के नेता ने दिया होता तो बीजेपी वाले अब तक उसे पाकिस्तान भेज देते, मीडिया तो फांसी की सज़ा की मांग कर देता।
गौरतलब है कि कल आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने बिहार के मुजफ्फरपुर की एक रैली को संबोधित किया था। जिसमें उन्होंने कहा था कि जिस चीज के लिए भारतीय सेना 6-7 महीने लेंगे, उसी के लिए आरएसएस तीन दिन में अपने स्वयंसेवकों को तैयार कर देगा। वहीं भागवत के बयान पर संघ ने सफाई देते हुए कहा है कि उनके बयान को जानबूझ कर गलत ढंग से पेश किया गया है।

भागवत भारतीय सेना की तुलना आरएसएस से नहीं कर रहे थे। उनका कहना था कि आर्मी अपने जवानों को तैयार करने में 6 महीने का समय लेती है। लेकिन आरएसएस कार्यकर्ताओं को कम समय लगेगा, क्यूँकि संघ के स्वयंसेवकों का अनुशासन ही ऐसा रहता है। यह सेना के साथ तुलना नहीं है. समाज और स्वयंसेवकों के बीच थी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *