मायावती के फ़ैसले का राजस्थान में क्या होगा असर?

October 3, 2018 by No Comments

आज दोपहर में बसपा प्रमुख मायावती ने एक ऐसा फ़ैसला लिया जिसके बाद मध्य प्रदेश और राजस्थान में कांग्रेस से गठबंधन को लेकर चल रही बातों को विराम लग गया. मायावती ने साफ़ कहा कि वो आने वाले विधानसभा चुनावों में अपने दम पर लड़ेंगी. इसके बाद राजनीतिक पण्डित ये चर्चा करने लगे कि अब मध्य प्रदेश और राजस्थान में चुनावी स्थिति क्या होगी. इन दोनों ही राज्यों में भाजपा की सरकार है और कांग्रेस से इस बार भी भाजपा का सीधा मुक़ाबला होना है.

राजस्थान में 200 विधानसभा सीटें हैं. मायावती की प्रेस कांफ्रेंस के बाद हमने राजस्थान के चुनावी जानकारों से बात की और ये जानने की कोशिश की कि यहाँ इस फ़ैसले का क्या प्रभाव पड़ा है. क्षेत्रीय जानकार मानते हैं कि इस फ़ैसले का राजस्थान में कोई विशेष प्रभाव नहीं पड़ना है. यहाँ बसपा के पास ३ से ४ प्रतिशत वोट ज़रूर है लेकिन कांग्रेस यहाँ पहले ही इतनी मज़बूत है कि यहाँ उसकी जीत लगभग तय मानी जा रही है.यहाँ की आम जनता भाजपा से नाराज़ नज़र आती है और कांग्रेस के लीडर इस बात को भुनाने में कामयाब साबित हुए हैं.

यहाँ की २०० विधानसभा सीटों की स्थिति जो दिख रही है वो यही है कि कांग्रेस पार्टी पूर्ण बहुमत से यहाँ चुनाव जीतकर आएगी. कुछ जानकार तो कह रहे हैं कि इस बार कांग्रेस १५० से अधिक सीटें जीतेगी. वहीं भाजपा सिमट कर ३० के क़रीब रह जायेगी. मायावती की बसपा की स्थिति पहले जैसी ही रहेगी, बसपा इस बार ३ से ५ सीटे जीत सकती है. असल में यहाँ भाजपा के पिछड़ने की वजह है लोगों की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से नाराज़गी है वहीं लोग केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार से भी बहुत ख़ुश नज़र नहीं आ रहे हैं. इस बात को कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट ने बख़ूबी निभाया है. प्रदेश कांग्रेस के नेता कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को गेम-चेंजर मान रहे हैं.

कांग्रेस में लेकिन एक ही परेशानी इस समय नज़र आ रही है वो है दो नेताओं में से किसी एक को चुनना. कांग्रेस इस समय सचिन पायलट को मुख्यमंत्री उम्मीदवार घोषित करना चाहती है लेकिन कांग्रेस का एक धड़ा ऐसा भी है जो अशोक गहलोत को बतौर मुख्यमंत्री एक बार फिर कुर्सी पर देखना चाहता है.भाजपा इसी में अपनी उम्मीद देख रही है लेकिन जानकार कहते हैं कि भाजपा के लिए चुनाव में जीतना बहुत मुश्किल है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *