राजनाथ के खिलाफ सपा और कांग्रेस साथ आये?,गृह मंत्री को हराने के लिए इस फ़िल्मी हस्ती को टिकट

April 5, 2019 by No Comments

इस बार का चुनाव देश के सबसे बड़े राज्य में बड़ा संघर्ष पूर्ण है.भाजपा ने यूपी से पिछली बार 73 सीट पर जीत दर्ज की थी लेकिन इस बार सपा और बसपा का महागठबंधन एक तरफ वही दूसरी तरफ कांग्रेस ने प्रियंका को कमान सौप कर भाजपा के लिए चुनौती बेहद कड़ी कर दी है.यूपी की वीआईपी सीटो पर भाजपा को शिकस्त देने के लिए विपक्ष एक साथ आ सकता है इसको लेकर अंदरखाने विपक्ष की पार्टियों में बात चल रही है.
यूपी की राजधानी लखनऊ में भाजपा के वरिष्ठ नेता राजनाथ सिंह को घेरने के लिए सपा और कांग्रेस बातचीत कर रही है.यहाँ से सपा उम्मीदवार को कांग्रेस समर्थन दे सकती है.सपा यहाँ से फिल्म हस्ती शत्रुघन सिन्हा की पत्नी को टिकट दे सकती है.आगे पढ़े-

राजनाथ सिंह- नरेंद्र मोदी


फायर ब्रांड नेता और हिंदी फिल्मों के जानदार अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी पूनम सिन्हा लखनऊ से गृहमंत्री राजऩाथ सिंह के खिलाफ लोकसभा चुनाव लड़ेंगी. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पूनम सिन्हा को समाजवादी पार्टी लखनऊ से टिकट देने जा रही है.सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस भी लखनऊ सीट पर बीजेपी की पराजय के लिए अपना उम्मीदवार यहां से नहीं उतारेगी.
इसके बजाय वह अपने कार्यकर्ताओं से सपा प्रत्याशी पूनम सिन्हा की जीत सुनिश्चित करने के लिए काम करने को कहेगी.गौरतलब है कि सन् नब्बे से बीजेपी से जुड़े शत्रुघ्न सिन्हा वरिष्ठ नेताओं खासकर पीएम मोदी की नीतियों की खिलाफत करने को लेकर हाशिए पर चले गए.हाल ही में उन्होंने नई दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से भी मुलाकात की थी.

शत्रुघ्न-राहुल


उस दौरान उन्होंने संकेत दिए थे कि वह पटना साहिब से ही चुनाव लड़ेंगे.इसमें उनके मददगार बनेंगे बिहार में राजद नीत महागठबंधन के नेता बिहार की इस वीवीआईपी सीट पर बीजेपी ने केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद को टिकट दिया है.गौरतलब है कि गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने 55.7 फीसदी वोट हासिल कर पिछले लोकसभा चुनाव में लखनऊ संसदीय सीट से विजय हासिल की थी.
उन्हें यहां की पांचों विधानसभा सीटों से भारी वोट प्राप्त हुए थे.उन्होंने तब कांग्रेस प्रत्याशी रीता बहुगुणा जोशी को हराया था.हालांकि रीता बहुगुणा जोशी बदलते समय के साथ अब कांग्रेस से त्यागपत्र देकर भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो चुकी हैं.आपको बता दे लखनऊ लोकसभा सीट पर भाजपा का पिछले तीस वर्षो से कब्ज़ा है.

हलाकि 2009 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने भाजपा बेहद कड़ी चुनौती देकर भाजपा उम्मीदवार लाल जी टंडन के खेमे में खलबली मचा दी थी,दरअसल लखनऊ लोकसभा सीट में मुस्लिम आबादी 23 प्रतिशत,दलित आबादी 19 प्रतिशत एवं यादव मतदाता पाच पर्तिशत है.वही ब्राह्मण मतदाताओ की भी अच्छी खासी आबादी है.
सपा की रणनीति है मुस्लिम,यादव और दलित वोटो को गोलबंद करके भाजपा के विजय रथ पर ब्रेक लगाया जाए इसीलिए सपा चाहती लखनऊ से कांग्रेस कोई उम्मीदवार ना उतारे.विधानसभा चुनावों के आकडे देखे तो अगर संयुक्त विपक्ष के वोट जोड़ लिया जाए फिर ये सीट राजनाथ के लिए सेफ नही है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *