राम मंदिर पर इस मुस्लिम लड़के की बात काबिल-ए-तारीफ है, सुनकर क्यों बिफर पड़े मुसलमान

December 2, 2018 by No Comments

दोस्तों अयोध्या में बहुत सारे हिंदू संगठन पहुंचकर मंदिर बनाने की बात कर रहे हैं दोस्तों मंदिर अगर बन जाए तो इसका देश पर क्या फर्क पड़ेगा इसको जानने के लिए हमने कुछ मुस्लिम युवाओं से बात की जिसमें कुछ बात नहीं निकल कर सामने आई जिसे हम आपको बताएंगे दोस्तों अयोध्या में शिवसेना विश्व हिंदू परिषद और आर एस एस के लोग पहुंचकर मंदिर बनाने की बात कर रहे हैं और उनका एक ही नारा है पहले मंदिर फिर सरकार दोस्तों बीजेपी को इसी मुद्दे पर वोट दिया गया था कि वह सत्ता में आएगी तो राम मंदिर का निर्माण होगा.

दोस्तों 4 साल गुजर ना लेकिन राम मंदिर पर कोई फैसला नहीं लिया गया अब जब चुनाव करीब है तो फिर से राम मंदिर का मुद्दा गरम हो गया है अयोध्या में मंदिर बनाने की बात हो रही है और सरकार इस पर कुछ बोलने को तैयार नहीं है दोस्तों मंदिर के नाम पर भाजपा सत्ता में आई थी लेकिन क्या अगर मंदिर नहीं बना तो भाजपा दोबारा सत्ता में आएगी क्या नरेंद्र मोदी को वोट दिया जाएगा.

youtube


यह एक सवाल सामने आता है कुछ नेताओं का कहना है कि अगर मुसलमान इस तरह से अयोध्या में एकत्रित होते तो अब तक उन पर आतंकवाद का इल्जाम लगा दिया जाता और पैलेट गन का इस्तेमाल करके कितने मुसलमानों को अंधा कर दिया जाता तो दोस्तों इसी सिलसिले में हमने कुछ मुस्लिम युवाओं से बात की आइए आपको बताते हैं कि मुसलमानों का क्या कहना है.

दोस्तों मुस्लिम युवाओं से बात करना में एक बात सामने आई कि मुसलमानों का कहना है कि जो सुप्रीम कोर्ट फैसला करेगा वह हमें मंजूर है सवाई भोज मंदिर के हक में फैसला करें या मस्जिद के हक में हमें मंजूर है दोस्तों कुछ युवाओं का यह भी कहना है कि जमीन को मंदिर के हक में दिया जाए और ना ही मस्जिद के हक में.

youtube


वहां पर एक पार्क बना दें कुछ का यह कहना है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर ही हम यकीन रखते हैं वह जो फैसला करेगी हमें मंजूर होगा उन्होंने आगे कहा कि हम देश में अमन चाहते हैं और लड़ाई झगड़ा फसाद नहीं चाहते इसलिए अमन को कायम करते हुए सुप्रीम कोर्ट के फैसले को हम स्वीकार करेंगे दोस्तों मुस्लिम युवाओं का यह भी कहना है कि लोग मंदिर मस्जिद के नाम पर लड़ रहे हैं और न जाने कितने हिंदू और मुसलमान भूखे मर रहे हैं

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *