रामदेव चाहते हैं ग़रीबों से छीन लिया जाए वोट देने का अधिकार?

November 5, 2018 by No Comments

हरिद्वार: योगगुरू स्वामी रामदेव ने एक ऐसी बात कही है जिसके बाद ये चर्चा तेज़ हो गयी है कि रामदेव चाहते हैं कि ग़रीबों का वोट देने का अधिकार छीन लिया जाए. रामदेव असल में कह रहे हैं कि जिसके दो से अधिक बच्चे हों उनका वोट देने का अधिकार छीन लिया जाए. रामदेव को मालूम है या नहीं लेकिन हिन्दू या मुसलमान, हर धर्म में उन्हीं माँ-बाप के दो से अधिक बच्चे अक्सर को होते हैं जो ग़रीब होते हैं. विवाह के मुद्दे पर बयान देते हुए उन्होंने कहा यह एक राष्ट्रीय मुद्दा है। भारत में जब जनसंख्या कम थी तो भारतीय परंपरा में ज्यादा बच्चे पैदा करने की बात की गई। स्वामी रामदेव ने कहा है कि इस देश में जो हमारी तरह विवाह न करें, उनका विशेष सम्मान होना चाहिए और जो विवाह करें और 2 से ज्यादा बच्चे पैदा करें उनको वोट देने का अधिकार नहीं मिलना चाहिए।रामदेव ने कहा भारत की आबादी 125 करोड़ से ज्यादा हो चुकी है। हम वोट के जरिए राजनीतिक नेतृत्व चुनते हैं। लेकिन एक विवेकशील पुरुष या महिला यदि एक जागृत आत्मा हो तो वो करोड़ों पर भारी पड़ती है।

इससे पहले भी स्वामी रामदेव विवाह के मुद्दे पर बयान दे चुके हैं। पिछले दिनों उन्होंने कहा था उनकी सफलता और खुशहाली की वजह उनका अविवाहित होना है। उन्होंने कहा कि खुश रहने के लिए पत्नी और बच्चों की जरूरत नहीं होती, आप उनके बिना भी खुश रह सकते हैं, जिस तरीके से मैं हमेशा खुश रहता हूं।

रामनवमी के मौके पर संन्यासियों को दीक्षा देते हुए रामदेव ने कहा था कि संत बनने और स्वयं को राष्ट्रसेवा के लिए समर्पित करने से ज्यादा आनंददायक कुछ भी नहीं हो सकता। इस मौके पर संन्यासी बन चुके शिष्यों के परिवारों का भी स्वामी राम देव ने आभार व्यक्त किया जिन्होंने अपने बच्चों को राष्ट्र सेवा के उत्तम कार्य के लिए समर्पित किया ।हरिद्वार स्थित पतंजलि के आश्रम में ‘ज्ञानकुंभ’ कार्यक्रम आयोजित किया गया है। दो दिवसीय इस कार्यक्रम में देशभर के शिक्षाविद् शामिल हैं । यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी कार्यक्रम में हरिद्वार पहुंचे हुए हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *