नीतीश को राजद पोस्टर में मिली ‘रावण’ वाली जगह और तेजस्वी…

October 18, 2018 by No Comments

बिहार में नवरात्रि के मौके पर जहां लोग पूजा-अर्चना के लिए पंडालों में पहुंच रहे हैं, वहीं राजनीतिक दल इस भीड़-भाड़ वाले मौके को भी भुनाने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ना चाह रहे हैं।राजनीतिक प्रतिद्वंद्विता नवरात्र में राम बनाम रावण के रूप में सामने आ रही है। पोस्टर वॉर करके एक तरफ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को दस सिरों वाला रावण तो राष्ट्रीय जनता दल नेता तेजस्वी यादव को राम के रूप में दिखाया गया है।

अकसर देखा जाता है कि राजनीतिक दल अपने विरोधियों पर निशाना साधने का कोई भी मौका हाथ से नहीं जाने देना चाहते हैं। यही कारण है कि कांग्रेस और राष्ट्रीय जनता दल ने अपने विरोधियों पर निशाना साधने के लिए पोस्टर का सहारा लिया है। 

पोस्टर में तेजस्वी बने राम मुख्यमंत्री नीतीश को बनाया रावण

बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव को ‘राम’ और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को दस सिर वाले ‘रावण’ के रूप में दिखाया गया है। पटना शहर के वीरचंद पटेल पथ स्थित राजद के प्रदेश मुख्यालय और 5 देशरत्न मार्ग स्थित तेजस्वी के सरकारी आवास के पास राजद के आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ के उपाध्यक्ष आनन्द भगत द्वारा लगाए गए इस पोस्टर में तेजस्वी को ‘राम’ और नीतीश को ‘रावण’ के रूप में दिखाया गया है।

पोस्टर वार में जदयू के साथ कांग्रेस भी आई

आपको बता दे जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने आरोप लगाया कि बिहार में राजद शासन काल कानून के शासन के अभाव के रूप में जाना जाता है। राज्य के मुख्यमंत्री के प्रति उनका अपमान उनके अपने चरित्र को एकबार फिर प्रतिबिंबित करता है। राजद के साथ महागठबंधन में शामिल कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा ने राजद द्वारा लगाए गए पोस्टर में नीतीश को ‘रावण’ के रूप में दिखाए जाने से अपनी पार्टी को अलग करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री को रावण के रूप में दिखाए जाना अनुचित है।

पूरे मामले पर तेजस्वी यादव ने दी सफाई

तेजस्वी यादव ने इस पूरे मामले पर अपने ट्विटर हैंडल से लिखा- ‘मैं ऐसी तस्वीरों का समर्थन नहीं करता लेकिन साथ-साथ नीतीश जी को भी यह सोचना होगा कि आज लोगों को उनपर इतना ग़ुस्सा क्यूं है? क्या कारण है? उन्हें अंतरात्मा से जवाब मांग आत्ममंथन करना होगा कि उन्होंने जनता के साथ क्या-2 वादाखिलाफ़ियां की हैं. उन्हें जनता के ग़ुस्से पर चिंतन करना चाहिए.’

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *