रोहिंग्या मुद्दे पर बंगलादेश ने दिया बड़ा बयान

ढाका: बांग्लादेश के विदेश सचिव मुहम्मद शहीदुल हक़ ने म्यांमार से बांग्लादेश में रिफ्यूजी की तरह से रह रहे रोहिंग्या लोगों के बारे में बड़ा बयान दिया है. हक़ ने कहा है कि उनके देश का पक्ष इसमें पूरी तरह से क्लियर है.

उन्होंने कहा कि जो समस्या म्यांमार में पैदा हुई है उसका हल म्यांमार में ही ढूंढना होगा.

उन्होंने आगे कहा कि उनकी सरकार म्यांमार सरकार की मदद कर सकती है लेकिन हल ये नहीं हो सकता कि रोहिंग्या लोग बांग्लादेश में ही रह जाएँ.

हक़ ने कहा कि उनकी सरकार चाहती है कि रोहिंग्या लोग जल्द से जल्द अपने मुल्क लौट जाएँ. उन्होंने कहा कि म्यांमार सरकार ने शुरू में इंटरेस्ट दिखाया है और इसके बारे में अभी चीज़ें देखी जा रही हैं.

हक़ ने बताया कि उनकी सरकार ने एक लिखित प्रपोज़ल दिया है कि उन्हें कैसे वापिस लिया जा सकता है. इसके बारे में एक वर्किंग ग्रुप भी बना दिया गया है.

गौरतलब है कि म्यांमार के रखाइन प्रांत में रोहिंग्या लोगों के नरसंहार की घटनाओं के बाद वहाँ से इस प्रजाति के लोग जान बचाने को बांग्लादेश आ गए थे. बांग्लादेश आये रिफ्यूजी रोहिंग्या की संख्या 5 लाख से भी अधिक है. इस मामले में बांग्लादेश सरकार की लगातार सराहना हुई है जबकि म्यांमार सरकार पर नरसंहार के गंभीर आरोप लगे हैं. जो लोग आये हैं उन्हें अधिकतर मुसलमान हैं जबकि कुछ हिन्दू और इसाई भी हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.