एक और बड़ा घोटाला आया सामने; रोटोमैक कंपनी का मालिक ग़ायब

February 18, 2018 by No Comments

पंजाब नेशनल बैंक में हुए 11 हज़ार करोड़ से भी अधिक के घोटाले के बाद जहाँ देश भर में लोग चौंक से गए हैं वहीँ अब कानपूर से भी एक घोटाले की ख़बर आ रही है. रोटोमैक पेन बनाने वाली कंपनी पर कई बैंकों से कुल 800 करोड़ लेने का मामला सामने आया है. ये पैसा अलग अलग बैंकों से लिया गया है और सभी बैंक सरकारी हैं.

सूत्रों के मुताबिक़ कानपूर स्थित रोटोमैक कंपनी के मालिक विक्रम कोठारी ने 5 सरकारी बैंकों से 800 करोड़ रुपये से ज्यादा का लोन लिया था. इन बैंकों के नाम इस प्रकार हैं- इलाहाबाद बैंक, बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ बड़ौदा, इंडियन ओवरसीज बैंक और यूनियन बैंक ऑफ इंडिया. ऐसा कहा जा रहा है कि नियम को ताक़ पर रखकर विक्रम कोठारी को लोन दिया गया है. कोठारी का मामला अभी इतना कुछ टीवी में नहीं आ रहा है लेकिन ये मामला भी बड़ा ही नज़र आ रहा है.

बताया जा रहा है कि कोठारी ने सबसे ज़्यादा पैसा यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया से लिया हुआ है. ये रकम 485 करोड़ रूपये है. उसने इलाहाबाद बैंक से भी 352 करोड़ की रकम का कर्ज लिया था. अभी तक मिली जानकारी के मुताबिक़ लेकिन एक साल हो जाने के बावजद उसने बैंकों को न तो लिए गए लोन पर ब्याज चुकाया है और न लोन वापस लौटाया है. इतना ही नहीं कानपुर माल रोड के सिटी सेंटर में रोटोमैक कंपनी के ऑफिस पर पिछले कई दिनों ने ताला बंद है. सूत्रों के मुताबिक़ विक्रम कोठारी भी ग़ायब है. वो लापता बताया जा रहा है.इलाहाबाद बैंक के मेनेजर ये उम्मीद कर रहे हैं कि उसकी संपत्ति बेच कर पैसा वापिस रिकवर कर पायेंगे.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *