रोज़ 30 हज़ार नए लोगों को रोज़गार चाहिए और नौकरियाँ सिर्फ़ 450 ही मिल पाती हैं: राहुल गांधी

अमेरिका: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कल देर रात अमेरिका की प्रिंस्टन यूनिवर्सिटी में छात्रों को संबोधित किया। इस दौरान राहुल ने भारत सरकार पर कई जुबानी हमले किए। राहुल ने कहा कि अगर कांग्रेस देश से बेरोजगारी खत्म करने में नाकाम रही है, तो बीजेपी सरकार भी इसे कम या खत्म करने में नाकामयाब रही है।

लोगों ने बेरोजगारी खत्म न कर पाने के कारण बीजेपी का हाथ थामा था। जिस बदौलत पीएम मोदी ने साल 2014 में लोगों को आश्वासन दिलाया था कि वे सत्ता में आकर देश के युवाओं के लिए नए रोजगार पैदा करेंगे। लेकिन तीन सालों में बेरोजगारी बिलकुल कम नहीं हो पाई ,अब यही लोग बीजेपी के प्रति भी रोष प्रकट करेंगे।

बेरोजगारी को राहुल गांधी ने आर्थिक विकास के लिए बड़ी चुनौती बताया है। इस बारे में चिंता व्यक्त करते हुए राहुल ने कहा कि रोज़ाना 30 हज़ार लोग जॉब मार्केट में आते हैं और सिर्फ 450 नौकरियां ही दी जाती है। भारत सरकार के लिए बेरोजगारी खत्म करना एक बहुत बड़ी चुनौती है कि इस समस्या का हल लोकतांत्रिक तरीके से निकाला जा सके। राहुल ने कहा,”मोदी सरकार इस गंभीर समस्या को समझ नहीं पा रही है। उन्हें इस मुद्दे पर गंभीर कदम उठाने चाहिए। उन्हें ये कब पता चलेगा की देश में युवाओं से नौकरियां पैदा करने से जुड़े वादे को पूरा करना कितना जरूरी है”।

उन्होंने कहा कि असली समस्या यह है कि अभी तक मोदी सरकार जनता को असली मुद्दों से भटका दे रही हैं और समस्या पर बात करने के बजाए दूसरे पर उंगली रही है। राहुल ने यह भी कहा कि नौकरियां पैदा करने के मोर्चे पर पीएम मोदी का रेकॉर्ड ‘बहुत अच्छा’ नहीं रहा है. देश में डिजिटल इंडिया और मेक इन इंडिया जैसे बड़े प्रोजेक्ट लाये जा रहे हैं, लेकिन देश के लोगों की बुनियादी जरूरतों को पूरा करने के लिए सरकार का ध्यान बिलकुल भी नहीं जा रहा है। युवा देश का भविष्य हैं, उनके पास नौकरियां होंगी, असलियत में देश का विकास तभी हो पायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.