रूस का बड़ा ऐलान सीरिया के घूटा में हर रोज़ पांच घंटे के लिए रुकेगी जंग

February 27, 2018 by No Comments

सीरिया के घूटा इलाके के पूर्वी हिस्से में हालात बहुत ही बदत्तर हो चुके हैं। विद्रोहियों के सफाये के चक्कर में सीरिया और रूस ने पूरे शहर को तबाह कर दिया है।  सीरिया की राजधानी दमिश्क से सटे पूर्वी घूटा में 19 फरवरी से 26 फरवरी तक रूस ने खूब हवाई हमले किए हैं।
लेकिन इसी जंग भरे माहौल के बीच रूस के राष्ट्रपति ने एक बड़ा एलान किया है। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने सीरियाई सेना को घूटा में विद्रोहियों के कब्ज़े वाले इलाके में हर रोज़ कुछ वक्त के लिए हमले रोकने का आदेश दिया है। पूर्वी घूटा में करीब चार लाख लोग रहते हैं।

रूस के रक्षा मंत्री सर्गेई शोयगू ने कहा है कि जंग के दौरान ये ‘मानवीय रोक’ स्थानीय समय के मुताबिक सुबह नौ बजे से दोपहर दो बजे तक चलेगी और सीज़फायर को आज से शुरू किया गया है। 5 घंटों के लिए जंग पर इस विराम के पीछे उनका मकसद है कि जंग में फंसे नागरिकों को विद्रोहियों के कब्ज़े वाले इलाके से निकल पाने में मदद देना।

सीरिया की राजधानी दमिश्क के करीब, विद्रोहियों के कब्ज़े वाले इस इलाके में तकरीबन 4 लाख नागरिक फंसे है। इस शहर पर रूस की मदद से सरकारी सेना लगातार बमबारी कर रही है। सीरिया की हालात पर नज़र रखने वाले एक निगरानी समूह के मुताबिक बीते आठ दिनों में घूटा में 550 लोग मौत के घाट उतर चुके हैं।

हाल ही में यूनाइटेड नेशंस की सिक्योरिटी कौंसिल ने सीरिया में तीस-दिनों के सीज़फ़ायर का आह्वान का प्रस्ताव रखा था। इस प्रस्ताव में कौंसिल ने ‘सभी पक्षों से तुरंत जंग रोकने’ और इसमें हताहत हुए ज़रूरतमंदों तक सहायता सामग्री पहुंचने देने की मांग की थी। संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटरेस ने पूर्वी घूटा को धरती पर नरक जैसे बताया है। उन्होंने इस पर तुंरत कार्रवाई की मांग की है। 27 फरवरी से हर दिन पांच घंटे का संघर्ष विराम लागू हो चुका है और इसकी मदद से इलाके से लाखों लोगों को बाहर निकाला जाना है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *