पहले से ही ताक़तवर अरब देश अब हो जाएगा और शक्तिशाली

रियाद: आर्थिक दृष्टि से देखा जाए तो सऊदी अरब एक सम्पन्न देश है। भारत समेत कई देशों से लोग रोज़गार की तलाश में भी यहाँ जाते हैं। सऊदी अरब की तरक़्क़ी लेकिन तेल की वजह से ही है और सरकार भी इस बात को समझती है कि तेल हमेशा नहीं रहेगा और अब अर्थव्यवस्था का विस्तार करने की ज़रूरत है।

इस बात की एहमियत को समझते हुए सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान ने अपना विज़न-2030 शुरू किया है। इस विज़न के कई उद्देश्य रखे गए हैं जिनमें सामाजिक सुधार और आर्थिक सुधार दोनों शामिल हैं। तेज़ी से हो रहे बदलावों में मनोरंजन इंडस्ट्री को बढ़ावा दिया जा रहा है और साथ ही साथ खेलकूद और टूरिज़म को भी सरकार तवज्जो दे रही है।

पिछले दिनों हुए कुछ सुधारों की बात करें तो महिलाओं को खेल को खेल के मैदान से देखने की अनुमति मिल गयी है, महिलाओं को ड्राइविंग की अनुमति दी गयी है, महिला सुरक्षा के लिए भी विशेष काम हुए हैं। महिला अधिकारों के लिए एक काम ये भी हुआ है कि अब तलाक़शुदा महिलाओं को बच्चे की कस्टडी बिना किसी कोर्ट केस के दी जाएगी।

असल में समाज सुधार से ही आर्थिक सुधार भी जुड़े हुए हैं। जितना समाज में सुधार होगा उतनी ही आर्थिक व्यवस्था बेहतर होगी। आर्थिक मामलों में देखें तो सऊदी अरब में कई बड़े होटल खोले जा रहे हैं और नए प्रोजेक्ट पर काम चल रहा है।सऊदी समाज सुधार और आर्थिक सुधार का असर पास के अरब देशों पर तो पड़ने की उम्मीद है ही समूचे मुस्लिम समाज पर भी इसका सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा

Leave a Reply

Your email address will not be published.