सऊदी अरब और क़तर के संबंधों में कड़वाहट और बढ़ी

सऊदी अरब और क़तर के संबंधों में किसी तरह की कोई भी बेहतरी अभी तक नहीं हो पायी है. इसी बीच सऊदी विदेश मंत्री ने क़तर की उस मांग को युद्ध छेड़ने जैसा बताया जिसमें ये कहा गया था कि पवित्र स्थलों का अन्तर्राष्ट्रीयकरण हो.

अल अरबिया वेबसाइट के मुताबिक़ सऊदी अरब के विदेश मंत्री आदेल अल जुबेर ने कहा कि ये मांग बहुत आक्रामक है और ये युद्ध छेड़ने जैसा है.

क़तर के विदेश मंत्री शेख मुहम्मद बिन अब्दुलरहमान अल थानी ने हालाँकि इस आरोप को बेबुनियाद बताया और कहा कि किसी भी अधिकारी ने इस तरह की बात नहीं कही है. उन्होंने अल-जज़ीरा चैनल को बताया कि इस तरह की झूठी ख़बरों का जवाब देते देते वो तंग आ गए हैं.

जून के पहले हफ़्ते में शुरू हुए क़तर डिप्लोमेटिक क्राइसिस में सऊदी अरब, बहरीन, UAE और मिस्र ने क़तर पर ब्लोकेड लगा दी है जिसकी वजह से क्षेत्र में तनाव की स्थिति है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.