नए साल में सऊदी अरब और UAE के लोगों को भारी पड़ेगा उनकी सरकारों का ये फ़ैसला.

January 2, 2018 by No Comments

दुबई: सऊदी अरब और यूनाइटेड अरब अमीरात (यूएई) ने नई साल की शुरुआत में वेल्यू-एडेड टैक्स पेश किया। सऊदी अरब, यूऐई समेत खाड़ी देशों में भारत और पडोसी मुल्कों से बड़ी संख्या में श्रमिक रोजगार के लिए जाते हैं और खाड़ी देश भी अब तक देश टैक्स फ्री जीवन का भरोसा देकर रोजगार के लिए उन्हें यहाँ आकर्षित करते रहे हैं।
लेकिन लंबे समय तक टैक्स-फ्री कहे जाने वाली खाड़ी देशों में 1 जनवरी से वैट व्यवस्था शुरू की गई है। खाड़ी देशों में राजस्व का संकट खड़ा होने और कच्चे तेल के दामों में आई कमी ने इन देशों की अर्थवव्यस्था पर काफी बुरा असर पड़ा है।

जिसके चलते देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने और रेवेन्यू को बढ़ाने के लिए ज्यादातर वस्तु और सेवाओं पर 5% टैक्स तय किया गया है। खाने-पीने की चीजें, कपड़े, पेट्रोल, फोन, पानी और बिजली के बिलों के साथ ही होटलों में बुकिंग पर वैट लगाया गया है।

इसके साथ सऊदी अरब ने हाई क्वालिटी पेट्रोल की कीमत भी 127% बढ़ा दी है। जबकि लो क्वालिटी के पेट्रोल की कीमतों में 83% का इजाफा किया गया है। लेकिन यह दुनिया के ज्यादातर देशों की तुलना में अभी भी यहाँ पेट्रोल काफी सस्ता है।
अब हाई क्वालिटी के एक लीटर पेट्रोल की कीमत 27 सेंट्स (करीब 17 रुपए 33 पैसे) में बढ़कर 34 रुपए 67 पैसे हो गई है।
जबकि लो क्वालिटी का पेट्रोल 20 सेंट्स (करीब 12 रुपए 84 पैसे) प्रति लीटर था, जो बढ़कर 36.5 सेंट्स (करीब 23 रुपए 43 पैसे) प्रति लीटर कर दिया गया है।

दोनों देशों को इससे करीब 21 अरब डॉलर (1 लाख 34 हजार करोड़ रुपए) की आय होने का अनुमान है। इससे पहले यूऐई में रोड़ टैक्स बढ़ा दिया गया है और टूरिज़्म टैक्स लागू किया गया है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *