सऊदी अरब ने क़तर से सारे डायलाग बंद किये

जेद्दाह: सऊदी अरब और क़तर के रिश्तों में दरार और बढ़ गयी है. एक समय जबकि ऐसा लग रहा था कि अब रिश्तों में सुधार आ सकता है तो सऊदी अरब ने एक बार फिर तल्ख़ रवैया अख्तियार कर लिया है.

सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान ने हाल ही में क़तर के अमीर शेख़ तमीम बिन हमद अल थानी से टेलीफोन पर बात की थी. इस बातचीत के बाद ऐसा लगा था कि अब रिश्तों में कड़वाहट कम हो जायेगी लेकिन ऐसा नहीं हो सका है.

सऊदी अरब की मीडिया में आयी ख़बरों के मुताबिक़ सऊदी अरब की सरकार ने आरोप लगाया है कि क़तर तथ्तों को तोड़-मरोड़ कर पेश कर रहा है. सऊदी अरब ने क़तर के साथ अपने समस्त डायलाग बंद कर दिए हैं.

गौरतलब है कि जून के प्रथम हफ्ते में सऊदी अरब, बहरीन, UAE और मिस्र ने क़तर से अपने सभी सम्बन्ध तोड़ लिये थे. इन देशों ने क़तर के हवाई जहाज़ों के लिए अपने रास्ते बंद कर दिए हैं जिसकी वजह से क़तर की अर्थव्यवस्था पर बुरा प्रभाव पड़ा है.

कुछ अन्य ख़बरों पर भी एक सरसरी नज़र…
1. उत्तरी अमरीका के देश मेक्सिको में आज 8.2 तीव्रता का भूकंप आया. ऐसा भूकंप सौ साल में एक बार आता है. इसमें 16 लोगों के मारे जाने की ख़बर है.

2.कोलंबिया के भूतपूर्व FARC विद्रोही रोड्रिगो लोंदोनो ने पोप फ़्रांसिस जो इस वक़्त कोलंबिया के दौरे पर हैं, उनसे युद्ध के लिए माफ़ी मांगी. मार्क्सवादी FARC विद्रोहियों और दक्षिणपंथी सरकारी एजेंसियों के बीच चले संघर्ष में 2 लाख 20 हज़ार से भी अधिक लोग मारे गए थे. जून 2016 में हुए एक शांति समझौते के बाद FARC ने हिंसा का रास्ता छोड़ दिया है. अब FARC ने कोलंबिया में एक राजनीतिक पार्टी का गठन कर लिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.