अब सऊदी सरकार ने लिया ये एतिहासिक फ़ैसला

March 11, 2018 by No Comments

सऊदी अरब में महिला अधिकारों के लिए विशेष काम हो रहे हैं. पिछले कुछ महीनों में जो फैसले सऊदी सरकार ने लिए हाँ उन्हें इसी तरह से देखा जा रहा है. महिलाओं की भागीदारी समाज में बढाने की कोशिश तो सरकार कर ही रही है वहीँ उन्हें अधिक से अधिक अधिकार कैसे दिए जाएँ इस पर भी सरकार गहनता से सोच रही है. इसी का नतीजा है कि कई बड़े फ़ैसले सरकार ले पा रही है. इसी बीच एक और अहम् फैसला लिया गया है.

जस्टिस मिनिस्टर शेख़ वलीद अल समानी ने ये जानकारी दी कि अब तलाक़शुदा महिलाओं को अपने बच्चों की कस्टडी के लिए किसी क़िस्म का मुक़दमा करने की ज़रुरत नहीं होगी. इस बारे में एक सर्क्युलर जारी किया गया है, इस सर्क्युलर के मुताबिक़ अगर किसी तरह का कोई विवाद माँ-बाप के बीच नहीं है और माँ-बाप तलाक़ ले लेते हैं तो ऐसे में माँ को बिना किसी मुक़दमे के बच्चे की कस्टडी का अधिकार होगा. इसमें कहा गया है की माँ को बस एक अर्ज़ी सम्बंधित अदालत में डालनी होगी जिसमें किसी तरह का कोई क़ानूनी पचड़ा नहीं होगा.इसमें ये भी बताया गया है की माँ हर जगह बच्चे की फॉर्मेलिटीज़ पूरी कर सकेंगी और ऐसी सूरत में पिता की ज़रुरत इन कामों के लिए नहीं होगी.

इस बारे में जेद्दाह के मशहूर वकील माजिद ग़रूब कहते हैं कि पहले ऐसा होता था की माँ को बच्चे की कस्टडी के लिए मुक़दमा करना होता था और इसमें एक लंबा समय लगता था जिससे कि माँ, परिवार और ख़ासकर के बच्चों पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता था. अरब न्यूज़ को दिए बयान में वो कहते हैं कि ये बड़ा मुश्किल होता था माँ के लिए लेकिन अब ये पूरी तरह से बदल गया है. उन्होंने कहा कि अब तो आटोमेटिक ही माँ बच्चे की कस्टडी के लिए पहली प्रायोरिटी हो गयी.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *