शाहनवाज़ पर बड़ा खुलासा,इस ता'कतवर नेता ने क'टवाया टिकट

April 1, 2019 by No Comments

भारतीय जनता पार्टी के चर्चित मुस्लिम नेता शाहनवाज हुसैन को इस बार के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने टिकट नहीं दिया है।जिसके बाद उनके समर्थकों द्वारा पार्टी के खिलाफ विरोध जताया गया है।पार्टी नेता शाहनवाज हुसैन बिहार की भागलपुर सीट से टिकट उम्मीदवारी का दावा कर रहे थे।लेकिन ये सीट एनडीए गठबंधन के चलत जेडीयू के खाते में चली गई है।
जिसके चलते भागलपुर सीट से अब शाहनवाज हुसैन को टिकट नहीं दिया जा रहा आपको बता दें कि शाहनवाज हुसैन और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ संबंध कुछ अच्छे नहीं हैं।बीजेपी द्वारा भागलपुर सीट से टिकट काटे जाने के बाद शाहनवाज हुसैन ने इसका जिम्मेदार सोशल मीडिया साइट ट्विटर पर एक ट्वीट के जरिए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को ठहराया है।आपको बता दें कि बीजेपी नेता शाहनवाज हुसैन पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के करीबी लोगों की लिस्ट में भी शामिल नहीं है।

शाहनवाज़ हुसैन


राजनीतिक सूत्रों का मानना है कि शाहनवाज हुसैन पार्टी के उन नेताओं में शुमार हैं।जिन्हें बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी के खेमे का माना जाता है।इस वक्त बीजेपी में मोदी और शाह का युग चल रहा है।शाहनवाज़ हुसैन का कहना है कि अगर वह नीतीश कुमार और अमित शाह की चमचागिरी करते तो शायद आज उन्हें भागलपुर से टिकट दे दी गई होती।
गौरतलब है कि शाहनवाज हुसैन इन दिनों पार्टी में हाशिए पर चल रहे हैं वहीं बिहार से बीजेपी नेता गिरिराज सिंह की सीट में भी बदलाव किया गया है बीजेपी सांसद गिरिराज सिंह नवादा लोकसभा सीट से चुनाव लड़ना चाहते थे लेकिन उन्हें पार्टी ने बेगूसराय सीट से टिकट दी है जिस पर गिरिराज सिंह ने सार्वजनिक तौर पर नाराजगी भी जाहिर की है आपको बता दें कि बेगूसराय लोकसभा सीट पर गिरिराज सिंह का मुकाबला इस बार सीपीआई उम्मीदवार कन्हैया कुमार से होने वाला है।

बीजेपी


साल 2019 के लोकसभा चुनावों के लिए शाहनवाज हुसैन बीते साल से ही तैयारी में जुट गए थे।शाहनवाज़ हुसैन बीते साल से लगातार भागलपुर के दौरे कर रहे थे।शाहनवाज हुसैन को उम्मीद थी कि पार्टी एक बार फिर उन पर विश्वास दिखाएगी और उन्हें भागलपुर से टिकट मिलेगा।हालांकि साल 2014 में मोदी लहर के बावजूद शाहनवाज हुसैन भागलपुर से लोकसभा चुनाव हार गए थे। लेकिन इस बार उन्होंने अपनी जमीनी जड़े मजबूत की थी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *