शारजाह एयरपोर्ट पर इस शख्स ने किया कुछ ऐसा, जो आपने फिल्मों में ही देखा होगा

February 8, 2018 by No Comments

शारजाह में एक भारतीय सिविल इंजीनियर एयरपोर्ट पर ऐसी हरकत की, जिसे आपने पहले फिल्मों में ही देखा होगा। ये सिविल इंजीनियर शारजाह इंटरनेशनल एयरपोर्ट के रनवे बिना पासपोर्ट और वीज़ा के घुस गया। जिसे बाद में एयरपोर्ट प्रशासन द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया।
इस शख्स की पहचान आरके के नाम से हुई है, जिसकी उम्र 26 साल है। 
खलीज टाइम्स के मुताबिक, आरके के ऐसा इसलिए किया, क्यूँकि वह अपनी मंगेतर को दिखाना चाहता था कि “मैं एक स्वतंत्र व्यक्ति हूं और हम अपना जीवन अपने मुताबिक जी सकते हैं। शारजाह पुलिस ने उसे हवाई अड्डे की दीवार पर चढ़कर और रनवे का उल्लंघन करने के आरोप में हिरासत में लिया। दरअसल उसका पासपोर्ट एम्प्लायर के कब्जे में है।

उसने बताया कि मैं कहना चाहता हूं कि मैंने यह काम इसलिए किया क्यूँकि मैं किसी भी कीमत पर अपने मंगेतर से मिलने के लिए भारत वापस जाना चाहता हूं। न्यायाधीश मेहमुद अबू बेकर की अध्यक्षता में शारजाह शरिया कोर्ट की सुनवाई के दौरान, आरके ने उस घटना के बारे में बताते हुए कहा कि मैं अपना सारा सामान अपने फ्लैट पर ही छोड़ कर आया था, मेरे पास सिर्फ मेरा वॉलेट था, मैं पासपोर्ट के बिना एयरपोर्ट पहुंचा, वहां दीवार को फांद कर रनवे पर जाकर बिना पासपोर्ट के बिना फ्लाइट में चढ़ने की कोशिश की।

पासपोर्ट एम्प्लायर के कब्जे में होने के कारण मैंने टिकट नहीं खरीदी थी।  मैं भारत वापिस जाना चाहता था, अपने परिवार को अपनी मंगेतर से शादी करने के लिए मनाने के लिए। लेकिन पासपोर्ट न होने के कारण मैंने ये फैसला लिया, कि अगर ऐसा करते हुए मैं पकड़ा गया तो
मुझे अदालत में पेश किया जाएगा, जहाँ या तो मुझे पासपोर्ट मिल जाएगा और देश से किसी भी तरह से निर्वासित किया जाएगा।

आरके का कहना है कि वह यूऐई में बहुत बुरे हालात में रह रहा है, उसने ऐसा करने से पहले 15 बार अपनी कंपनी से संपर्क किया था, लेकिन फर्म का प्रबंधन करने वाले उसके रिश्तेदार ने उन्हें अनुमति देने से इंकार कर दिया। आरके ने कहा कि अब उन्हें कानूनी कार्रवाई का सामना करने के लिए कोई पछतावा नहीं है, लेकिन वह सिर्फ घर जाना और स्वंतंत्र होना चाहता है।

उसका कहना है की इस तथ्य पर केवल गुस्सा था कि उनकी कंपनी ने यूएई कानून के उल्लंघन में उसकी इच्छा के खिलाफ अपना पासपोर्ट कब्जे में रखा। जोकि कानून का उल्लंघन है।

कानूनी सलाहकार हसन एलायस ने बताया कि सामान्य लोग हवाईअड्डा जैसे निषिद्ध स्थानों में प्रवेश करने के लिए अधिकृत नहीं हैं। अगर आरके दोषी पाए जाते हैं, तो उन्हें पांच साल तक जेल जा सकता है और Dh100,000 का जुर्माना लगाया जा सकता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *