शत्रुघन सिन्हा ने की अखिलेश यादव की तारीफ़, भाजपा समर्थकों को..

September 23, 2018 by No Comments

अक्सर सुर्ख़ियों में रहने वाले भारतीय जनता पार्टी से सांसद और फ़िल्मी इंडस्ट्री के महान नेता शत्रुघन सिन्हा ने ऐसा बयान दिया है कि जिससे वह फिर चर्चा का विषय बन गए हैं. उन्होंने इस बार अपने निशाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह दोनों को लिया है, शत्रुघ्न सिन्हा ने सीधे यह सवाल किया है कि क्या बीजेपी सरकार का अंत नजदीक है ? ऐसा सवाल करना उनका जरूर किसी बात को लेकर नाराजगी बता रही है ।

गौरतलब है कि शत्रुघन ने समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के बहाने बीजेपी को निशाने पर लिया। हालाँकि वो अभी भी बीजेपी से ही लोकसभा सदस्य हैं, शत्रुघन सिन्हा ने ट्विटर पर लिखा कि घमंडी राजनीत के युग में मै उदार राजनीत में एक उज्जवल सितारा देखता हूँ।

अखिलेश यादव ने कहा कि अगर जरुरत पड़ी तो उत्तर प्रदेश में गठबंधन के लिए दो क़दम पीछे भी जायेंगे, और यह एक युवा नेता के अच्छे राजनीतिज्ञ होने का भी परिचय देता है जो किसी में नहीं दिखता, उन्होंने अखिलेश यादव के कथन पर कहा कि क्या बीजेपी सरकार का अंत नजदीक आ रहा है ? अखिलेश यादव के पक्ष में बात करके शत्रुघन सिन्हा अपने ही पार्टी के नेताओं के निशाने पर आ गए हैं ।

शत्रुघन सिन्हा, सांसद

वहीं दूसरी तरफ अखिलेश यादव ने कहा कि अगले 50 साल या फिर अगले 50 सप्ताह आशा है कि जनता राष्ट्र के पक्ष में ही फैसला करेगी, जनता अपने जनाधार से जनता के हित में काम करने वाली पार्टी को ही विजय करेगी ।

शत्रुघन सिन्हा के इस ट्वीट पर उनके ही पार्टी के लोगों ने उनकी जमकर आलोचना की है। एक यूजर ने तो ये लिखा है कि जनता ने तय कर लिया है कि मोदी जी को वापस लाना है और आपको पटना साहिब से छुट्टी भी दिलाना है, क्योंकि आप तो आप के हो चले हो, हालांकि शत्रुधन सिन्हा किसी ख़ास पार्टी की तरफदारी नहीं कर रहे हैं फिर भी उन्हें ऐसी आलोचना झेलनी पड़ रही है ।


बहुत से यूजर ने उन्हें कहा कि शत्रूघन सिन्हा,अखिलेश यादव,तेजस्वी यादव,राहुल यह सभी सदी की बड़ी गन्दगी हो चुके हैं जिन्हें कूड़े के डिब्बे में डालकर किसी दूसरे स्थान पर स्थानन्तरित कर देना चाहिए, यह लगातार देश में जातिवाद का जहर घोल रहे है जो कि हमें बिलकुल भी मंजूर नहीं है।

हालांकि शत्रुधन सिन्हा आजतक किसी भी व्यक्ति या किसी भी धर्म की भावना को ठेंस नही पहुँचाया है फिर भी उन्हें ऐसी आलोचना झेलनी पड़ रही है । कहावत है न 100 झूठ बोलकर 1 सच को छिपाया जा सकता है लेकिन 1 झूठ बोलकर कितने सच को छिपाया जायेगा ?

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *