भाजपा के ख़िलाफ़ इस मंच पर आए शत्रुघ्न सिन्हा

November 21, 2018 by No Comments

चित्रकूट। आज रामायण मेला मैदान, चित्रकूट में आयोजित अपना दल की विशाल किसान सभा में प्रदेश के हजारों किसानों ने अपना दल के साथ मिलकर बीजेपी की सत्ता को चुनौती दी। इस विशाल किसान सभा में शत्रुधन सिन्हा, संजय सिंह, रमेश दीक्षित, गयादीन अनुरागी एवं अपना दल की प्रदेश अध्यक्ष पल्लवी पटेल की गरिमामयी उपस्थिति रही। विशाल किसान सभा की अध्यक्षता अपना दल की राष्ट्रीय अध्यक्ष कृष्णा पटेल ने की।

इस विशाल किसान सभा में माननीय शत्रुधन सिन्हा ने अपना दल के मंच से देश के कमेरे समाज और किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि मोदी सरकार ने जो किसानों से वादा किया था 4 साल में पूरा नहीं किया और न ही किसानों को लागत मूल्य का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य ही मिला और न ही स्वामीनाथन आयोग की शिफारिसों को लागू किया गया। अच्छे दिनों का सपना दिखाने वाली सरकार जनता के ऊपर बुरे दिन ला दिये। आम आदमी पार्टी से पधारे राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने देश में फैली अव्यवस्था और प्रदेश में व्याप्त गुंडा राज्य को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि किस तरह से देश में गुंडाराज काबिज है, देश की जनता जानती है। अबोध बालिकाओं तथा नाबालिग बच्चियों के साथ घृणित कार्य हो रहा है। यही नही महिला सशक्तिकरण का नारा भी खोखला साबित हुआ। कानून व्यवस्था को लेकर माननीय उच्चतम न्यायालय से लेकर उच्च न्यायालय तक भाजपा सरकार पर टिप्पणी की है।

अपना दल की प्रदेश अध्यक्ष पल्लवी पटेल ने कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि देश के कमेरे समाज के साथ खड़ा होकर सत्ताधारी पार्टी को चुनौती दी कि इस देश को कोई भी धर्म के नाम पर नहीं बाँट सकता। पार्टी के नेता पंकज निरंजन ने डॉ सोनेलाल पटेल की विचारधारा और कमेरे समाज की एकता की ताकत को वो हथियार बताया जो बीजेपी की सरकार को इस प्रदेश से उखाड़ फेंकने का काम करेगी और प्रदेश के किसानों और मजदूरों और वंचितों को उनके अधिकारों के लिए एक बार फिर से खड़ा करेगी। किसान सभा की अध्यक्षता कर रही अपना दल की राष्ट्रीय अध्यक्ष कृष्णा पटेल ने कार्यकर्ताओं का हौसला अफजाई करते हुए कहा कि इस विशाल किसान सभा में उमड़ी भारी भीड़ ने अपना दल की ताकत का अहसास करा दिया कि आने वाला समय अपना दल का होगा, और उत्तर प्रदेश की राजनीति में व्याप्त समस्याओं के समाधान का एक नया रास्ता खोल दिया है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *