महाराष्ट्र हिंसा के पीछे जिग्नेश और उमर का नहीं, RSS का हाथ है, मीडिया गुमराह कर रहा है: शेहला राशिद

January 5, 2018 by No Comments

नई दिल्ली: दिल्ली की जेएनयू छात्रसंघ की पूर्व उपाध्यक्ष और छात्र नेता शेहला राशिद ने भीमा-कोरेगांव हिंसा में दलित नेता जिग्नेश मेवानी और जेएनयू छात्र उमर खालिद के समर्थन में सोशल मीडिया साइट पर अपनी प्रतिक्रिया दी है।
शेहला राशिद ने इस मामले में ट्वीट करते हुए लिखा है कि मेरे दोस्त जिग्नेश मेवानी, जोकि गुजरात के सबसे गरीब विधायक हैं, मुझे उनपर गर्व है। उन्होंने अत्याचारी बीजेपी सरकार की नाक में दम कर दिया है और भारत को जाति का सामना करने का सन्देश दिया है। उनके इस काम के किये अगर फासीवादी ताकते उन्हें आतंकवादी करार दे भी दें तो उसपर हमें कोई आश्चर्य नहीं होना चाहिए।

शेहला ने एक ट्वीट के जरिये देश की जनता को मीडिया की झूठी खबरों से बचने के सलाह भी दी है। शेहला ने लिखा है कि इस देश में न्याय मिलना राजनीतिक रूप से निर्धारित करता है। यदि आप किसी को गिरफ्तार करना चाहते हैं, तो शानदार बकवास का आविष्कार करने के लिए टाइम्स नाउ और रिपब्लिक टीवी की तरफ ध्यान दीजिये।

जबकि सीएम बनते ही योगी खुद के खिलाफ सभी मामलों को खत्म कर दिया है। शेहला ने इस ट्वीट में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा है। गौरतलब है कि यूपी के मुख्यमंत्री पद पर आने से पहले उनपर राज्य में साम्प्रादायिक माहौल बिगाड़ने और हिंसा फैलाने के आरोप में मामले दर्ज थे।
एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा है कि ये बहुत आश्चर्यजनक है कि टीवी मीडिया देश की जनता को गुमराह कर रहे हैं। राज्य में हुई हिंसा के पीछे जिग्नेश और उमर नहीं है, बल्कि राज्य में अशांति के पीछे आरएसएस का हाथ है।

आपको बता दें की दक्षिणपंथी संगठनों ने जिग्नेश मेवानी और उमर खालिद के खिलाफ उनके भाषण के बाद महाराष्ट्र में हिंसा बढ़ने का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया है। वहीँ मुंबई पुलिस ने राज्य में बने हिंसात्मक माहौल को देखते हुए उनके एक कार्यक्रम को भी रद्द कर दिया है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *