राकेश अस्थाना मुद्दे पर शिवसेना ने ली भाजपा की ‘क्लास’

October 31, 2018 by No Comments

मुंबई: शिवसेना ने एक बार फिर अपनी सहयोगी पार्टी पर निशाना साधा है. शिवसेना ने भाजपा सरकार पर हम-ला बोलते हुए कहा कि राकेश अस्थाना भाजपा का शार्प शू-टर है. सामना में छपे सम्पादकीय में कहा गया है कि अस्थाना भाजपा के लिए काम करते हैं और मोदी-शाह के विश्वसनीय हैं. मंगलवार को छपे इस संपादकीय में शिवसेना लिखती है, ‘गुजरात कैडर के एक अधिकारी राकेश अस्थाना मोदी-शाह के अत्यन्त विश्वसनीय हैं। इसमें कोई आपत्तिजनक नहीं है, लेकिन अस्थाना की ईमानदारी सवालों के घेरे में है। वह बीजेपी के शार्प शू-टर की तरह काम कर रहे हैं।’

सामना में कहा गया है कि ये वो समय है जब देश की कई संस्थाओं की प्रतिष्ठा दाँव पर लगी हुई है. सामना ने कहा कि जब सीबीआई, आरबीआई और ईडी की प्रतिष्ठा दांव पर हैं ऐसे समय में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जापान जा रहे हैं. शिवसेना ने मोदी की जापान यात्रा की निंदा की है.’सामना’ ने दावा किया, ‘यह खुलेआम कहा जाता है कि अस्थाना ने नीतीश कुमार को बिहार के बदनाम सृजन घोटाले से बचाया था और उसी दबाव के चलते नीतीश कुमार को लालू प्रसाद यादव का साथ छोड़ने पर मजबूर कर उन्हें बीजेपी कैंप में धकेला गया था। सृजन घोटाले करीब 2500 करोड़ रुपये का घोटाला था और नीतीश कुमार पर तब आरोप लगे थे। आगे चारा घोटाले में लालू यादव को गिरफ्तार करनेवाले यही अस्थाना थे।’

शिवसेना के मुखपत्र में सीधे भाजपा और अस्थाना की मिलीभगत के आरोप लगाए गए हैं. अखबार के ज़रिये कहा गया है कि तत्कालीन गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने अस्थाना को गोधरा केस में जांच प्रमुख के रूप में नियुक्त किया था। इसके बाद अस्थाना ने आसाराम मामले की भी जांच की और विवादास्पद आसाराम के ख़िलाफ़ क़ानूनी कार्रवाई का फैसला किया। सामना ने आरोप लगाया, ‘मतलब बीजेपी नेताओं को जैसा चाहिए, वैसा वे करते गए और मोदी ने उन्हें सीबीआई का स्पेशल डायरेक्टर नियुक्त कर उसी सेवा का पुरस्कार दिया।’

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *