शिवपाल के साथ आया ये दिग्गज मुस्लिम आईएस,पार्टी में शामिल होने के बाद कहा..

November 12, 2018 by No Comments

लखनऊ: आगामी 2019 के लोकसभा चुनाव को लेकर देश के सबसे बड़े राज्य यूपी में राजनीतिक सरगर्मियां तेज होती नजर आ रही हैं। चुनाव का समय जैसे-जैसे करीब आ रहा है, वैसे-वैसे राजनीतिक घटनाक्रम भी तेजी से करवट ले रहा है। नवगठित प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के संस्थापक शिवपाल सिंह यादव ने सपा से अलग होकर नयी पार्टी बनाकर अखिलेश यादव की मुश्किलें बढ़ा दी है। सपा में अखिलेश यादव से नाराज सपा नेताअों का इस्तीफा का दौर जारी है। इसी क्रम में आज रविवार को पूर्व आईपीएस वजी अहमद ने प्रगतिशील समाजवादी पार्टी की सदस्यता ली। वजी अहमद डीआईजी पीएसी के पद पर रिटायर हुए थे। बता दे कि वजी अहमद कई जिलों में पुलिस कप्तान भी रह चुके हैं। उन्हें पार्टी के एहशान खान ने सदस्यता दिलाने की औपचारिकता पूरी की।

बता दें कि यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश से नाराज चल रहे उनके चाचा और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के संस्थापक शिवपाल सिंह यादव ने सैफई हवाई पट्टी पर अपने समर्थकों के बीच खुलासा किया कि उनकी पार्टी 2019 लोकसभा का चुनाव लड़ेगी और सरकार में भी शामिल होगी। शिवपाल यादव ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि आम जनता को न्याय नहीं मिल रहा है। थानों और तहसीलों में पीड़ितों का जमकर शोषण हो रहा है। उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार में जमीनों पर अवैध कब्जे हो रहे हैं। नोटबंदी और जीएसटी से देश के लोग बेहद परेशान हैं।

दरअसल समाजवादी पार्टी से अलग होकर शिवपाल सिंह यादव ने अपना एक अलग मोर्चा समाजवादी सेक्युलर मोर्चा बनाया है, जिसे प्रगतिशील समाजवादी पार्टी भी कहा जा रहा है। शिवपाल यादव पार्टी बनाने के बाद से ही समाजवादी पार्टी में लगातार सेंध लगाकर असंतुष्ट और अपने पुराने वफादारों को अपनी पार्टी में शामिल कर रहे हैं। कई जिलों में उन्होंने सपा के बड़े नेताओं को तोड़कर अपनी पार्टी का बड़ा पदाधिकारी बना दिया है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *