भाजपा की “अकड़” पर शिवसेना का बयान; धीरे धीरे अलग हो जाएंगे भाजपा सहयोगी

March 8, 2018 by No Comments

मुंबई: आंध्र प्रदेश में बीजेपी के सहयोगी दल तेलगु देशम पार्टी ने अल्टीमेटम दे दिया है की अगर पार्टी ने उनकी मांग को नहीं माना तो वह उनसे अलग हो जाएंगे। टीडीपी प्रमुख और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने बुधवार देर रात प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इसका ऐलान कर दिया है। उनकी मांग है की बीजेपी अपने उस वादे को पूरा करे जिसमें उन्होंने कहा था की वह आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा दे।
वहीँ इस मामले में शिवसेना ने भी बीजेपी पर हमला बोल दिया है।

एनडीए से बागी चल रही शिवसेना ने टीडीपी के इस फैसले को भाजपा के लिए चुनौतीपूर्ण बताया है। शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि शिवसेना को इसकी उम्मीद थी। अन्य पार्टियां भी एनडीए से अलग हो रही हैं। सहयोगियों के बीजेपी से अच्छे रिश्ते नहीं हैं। धीरे-धीरे उनकी शिकायतें बाहर आएगी और वे गठबंधन से अलग हो जाएंगी।

वहीँ शिवसेना की नेता मनीषा कायान्दे ने कहा है, “टीडीपी से पहले ही शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने अपना स्टैंड साफ किया था। टीडीपी के 2 मंत्री इस्तीफा देने वाले हैं, भाजपा को इस बारे में सोचना चाहिए। एनडीए के पूर्व नेताओं ने गठबंधन को साथ रखा, लेकिन अब भाजपा ओवर कॉन्फिडेंट है। भाजपा के लिए 2019 चुनौतीपूर्ण होगा।
गौरतलब है की बीते कुछ समय से बीजेपी के शिवसेना के साथ रिश्ते अच्छे नहीं चल रहे हैं। शिवसेना बीजेपी के खिलाफ बयानबाजी में कोई कमी नहीं छोड़ रही है। साल 2019 के लोकसभा चुनावों और महाराष्ट्र के विधानसभा चुनावों में शिवसेना अकेले चुनाव मैदान में उतरने का एलान कर चुकी है। जिस तरह से दोनों पार्टियों के रिश्तों में पिछले कुछ दिनों से उतार-चढ़ाव चल रहा है, उससे दोनों पार्टियों का गठबंधन टूटने के पूरे आसार बन रहे हैं।
आंध्र प्रदेश में टीडीपी का बीजेपी से रिश्ता तोडना और महाराष्ट्र में शिवसेना का बीजेपी से मुंह मोड़ना, आने वाले लोकसभा चुनाव में बीजेपी के लिए काफी खतरनाक साबित हो सकता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *