शिवसेना ने कहा, “सरकार के ऊपर मनुष्यवध का FIR दाख़िल होना चाहिए”; रेल मंत्री ने दिए हादसे की जांच के आदेश

मुंबई: एलफिंसटन रेलवे स्टेशन पर हुई भगदड़ में अब तक 22 लोगों के मारे जाने की पुष्टि हुई है. बताया जा रहा है कि इसमें 30 से अधिक लोग घायल भी हुए हैं. आज सुबह 10 बजकर 45 मिनट के क़रीब ये हादसा हुआ. रेल मंत्रालय ने मारे गए लोगों के परिजनों को 5-5 लाख का मुआवज़ा देने का एलान किया है जबकि 50-50 हज़ार घायलों को भी दिए जायेंगे.

इस घटना के बाद वहाँ मौजूद लोगों ने हादसे के लिए रेल मंत्रालय की लापरवाही को ज़िम्मेदार ठहराया.

शिवसेना और कांग्रेस ने इस घटना के पीछे रेल मंत्रालय की लापरवाही को ज़िम्मेदार बताया है. शिव सेना नेता संजय राउत ने कहा,”सरकार के ऊपर सदोष मनुष्यवध का FIR दाख़िल होना चाहिए और रेल मंत्रालय पे मुक़दमा चलना चाहिए”. शिवसेना के विधायक अजय चौधरी ने कहा कि सरकार बेसिक सुविधाएं नहीं दे पा रही स्टेशन पर लेकिन सपना बुलेट ट्रेन का दिखाती है.

पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण ने कहा,”ऐसी घटनाओं के कारण सरकार बदनाम हो चुकी है, लोग बहुत परेशान हैं”.

केन्द्रीय रेल मंत्री ने इस घटना पर दुःख जताते हुए कहा,”बहुत ही दुखद हादसा है, हाई लेवल इन्क्वायरी का आर्डर दे दिया है”. गोयल ने मुंबई में आते ही कहा कि इस दुखद घटना जो दुर्भाग्यपूर्ण भगदड़ की वजह से हुई है पे बहुत दुखी हैं. उन्होंने बताय्या कि जब भी पुल को चौड़ा करने की ज़रुरत होगी, तुरंत किया जाएगा.

रेलवे के DG अनिल सक्सेना ने बताया कि अचानक हुई बारिश की वजह से लोगों ने स्टेशन पर ही इंतज़ार किया, जब बारिश रुक गयी तो लोगों में बाहर जाने को लेकर जल्दी मच गयी, जिसकी वजह से भगदड़ मच गयी.उन्होंने बताया कि 22 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है और 27 लोग घायल हैं.

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनवीस ने बताया है कि इस घटना की जांच होगी और दोषियों के ख़िलाफ़ सख्त कार्यवाही की जायेगी.

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी ने इस घटना पर शोक व्यक्त किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.