शिवसेना ने कश्मीरी नौजवानों के समर्थन में दिया बयान,मोदी सरकार से कहा…

February 20, 2019 by No Comments

महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी की सहयोगी पार्टी शिवसेना ने बीते 2 सालों से यह राग अलापा हुआ था कि वह 2019 के लोकसभा चुनाव एनडीए के साथ गठबंधन में नहीं लड़ेंगे लेकिन हाल ही में दोनों पार्टियों के बीच बनी सीटों के बंटवारे को लेकर सहमति के चलते शिवसेना ने बीजेपी का गठबंधन बरकरार है।लेकिन पुलवामा घटना पर शिवसेना ने भाजपा से अलग ब्यान दिया है।
शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा है कि शिवसेना ने इस बार के लोकसभा चुनाव में इसलिए बीजेपी के साथ गठबंधन बरकरार रखा।क्योंकि सहयोगी पार्टियों के प्रति उनके बर्ताव में बदलाव आया है।आपको बता दें कि हाल ही में शिवसेना और बीजेपी ने घोषणा की है कि वह लोकसभा चुनाव के साथ साथ अगले महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव भी गठबंधन में ही लड़ेंगे।

शिवसेना


अब शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में कहा है कि भारतीय जनता पार्टी को इस तरह का व्यवहार नहीं करना चाहिए कि जिससे उन पर लग रहे आरोपों को बल मिले। जिससे यह साबित होता है कि वह अपने राजनीतिक फायदे के लिए लड़ाई छेड़ने की कोशिश कर रहे हैं।सामना में शिवसेना ने कहा है कि अपने राजनीतिक फायदे के लिए बीजेपी को दं’गों और आ’तंकी ह’मलों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
शिवसेना ने कहाकि ऐसे कहा जाता है पीएम मोदी सियासी फायदा लेने के लिए पाकिस्तान से छोटी जंग भी लड़ सकते है.शिवसेना ने ऐसे किसी भी तरह के कार्य से बचने की भाजपा को सलाह दी है.शिवसेना ने बीजेपी को कश्मीरी छात्रों के साथ हो रहे हमलों पर आगाह किया है।
शिवसेना का कहना है कि कश्मीर के छात्रों को निशाना बनाए जाने से सरकार के लिए ज्यादा परेशानी खड़ी हो सकती है। पुलवामा ह’मले को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए शिवसेना ने कहा है कि जब हमारे खुफिया अधिकारी पीएम मोदी की जान को खतरा बताने वाले कथित ई-मेल का पता लगा सकते हैं तो सेना के काफिले पर आ;तंकी ह’मले को रोकने में कामयाब क्यों नहीं हुए।

शिवसेना


इस दौरान शिवसेना ने साल 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी और आरएसएस देश में होने वाले हर आ’तंकी हमले के लिए तत्कालीन मनमोहन सरकार को जिम्मेदार ठहराते थे।अब भी बीजेपी इस आ’तंकी ह’मले के लिए कांग्रेस को ही जिम्मेदार ठहरा रही है।पार्टी के नेताओं को निशाना बना रही है। पुलवामा हमले के बावजूद जब कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने पाकिस्तान की हिमायत की तो उन्हें देश विरोधी करार दे दिया गया।लेकिन जब बीजेपी नेता नेपाल सिंह ने यह कहा था कि जवान तो मरेंगे ही तो पार्टी ने उनपर कोई कार्रवाई नहीं की।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *