गुरुनानक देव के वास्ते काँटों पर चलकर भी पाकिस्तान जाऊँगा: सिद्धू

November 26, 2018 by No Comments

पाकिस्तान मे स्थित करतारपुर गुरुद्वारा सिख समुदाय का पवित्र धर्म स्थल है। यहाँ सिखों के पहले गुरु नानक देव ने अपने जीवन के आखिरी अट्ठारह साल गुज़ारे थे। यहीं उनकी मृत्यु भी हुई थी। ऐसे में करतारपुर कॉरिडोर बनाये जाने के फ़ैसले से सिख समुदाय में ख़ुशी की लहर दौड़ गई है।आज सुबह साढ़े ग्यारह बजे भारत के उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू ने गुरुदासपुर मे भारत के हिस्से वाले कॉरिडोर का शिलान्यास किया। केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी,केन्द्रीय खाद्य मंत्री हरसिमरत कौर बादल और पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह भी इस मौके पर मौजूद रहे।

वहीं पाकिस्तान 28 नवंबर को अपने हिस्से वाले कारीडार की नींव रखेगा। यह करोड़ों सिखों के लिए किसी सपने के सच होना जैसा है। पंजाब सरकार के मंत्री और पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू ने इस क़ामयाबी का सहरा पाकिस्तान के प्रधानमंत्री और पूर्व क्रिकेटर इमरान खान के सर बांधा है। उन्होंने कहा यह सिखों की धार्मिक भावनाओं का मामला है इस पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सिख लोग झप्पी के लिए जाने जाते हैं,ऐसे मे जनरल बावेजा को दी गयी मेरी झप्पी ने काम कर दिखाया है। उन्होंने आगे कहा कि वह अपने नानक के वास्ते किसी को भी झप्पी करेंगे।उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ समारोह मे सिद्धू भी शामिल हुए थे। वहाँ उन्होंने पाकिस्तानी फ़ोज के जरनल बावैजा को खुद आगे बढ़ कर गले लगाया था जिसके लिये उनको यहाँ भारत मे खूब आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था।

पाकिस्तान ने अपने हिस्से के कारीडार के शिलान्यास के अवसर पर केन्द्रीय मंत्री सुषमा स्वराज, पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ नवजोत सिंह सिद्धू को भी निमंत्रण भेजा है। सुषमा स्वराज और कैप्टन अमरिंदर सिंह ने जाने मे अपनी असमर्थता दिखाई है लेकिन सिद्धू जाने के लिए तैयार हैं। उनका कहना है कि वह गुरुनानक देव के वास्ते काँटों पर चल कर भी पाकिस्तान जा सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *