सिद्धू ने किया पलटवार-‘केवल झप्पी ही ली थी, राफ़ेल सौदा तो नहीं किया’

November 28, 2018 by No Comments

नई दिल्ली: क्रिकेटर से नेता बने सिद्धू की कांग्रेस पार्टी ने केंद्र की बीजेपी सरकार पर राफेल लड़ाकू विमान सौदे को लेकर हमलावर रुख अपनाया हुआ है. उनका कहना है कि इस मामले में करोड़ों रुपयों का घोटाला हुआ है. जिसमें सिद्धू भी खुल कर हमला कर रहे है। बता दें कि सिद्धू पहले भी भाजपा कार्यकर्ताओं की सुर्खियों में रहते थे। पार्टी बदलने के बाद भी हैं। पहले सिद्धू की प्रशंसा की जाती थी। अब निंदा की जाती है। पाक आर्मी चीफ जनरल कमर जावेद बाजवा से गले मिलने पर सिद्धू ने सफाई दी है।

सिद्धू ने कहा कि बाजवा से झप्पी एक सेकंड की थी, यह कोई राफेल डील नहीं थी। जब दो पंजाबी मिलते हैं, वे भावनात्मक रूप से गले लगते हैं। सिद्धू इस समय पंजाब के लाहौर शहर में हैं। वो मीडिया को संबोधित कर रहे थे। कांग्रेस नेता और पंजाब सरकार में कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन समारोह में हिस्सा लेने के लिए मंगलवार को लाहौर पहुंचे।  उन्होंने कहा कि करतारपुर चार किलोमीटर लंबा यह गलिायरा भारत और पाकिस्तान के बीच शांति को बढ़ावा देगा और ‘शत्रुता’ मिटाएगा. इससे क्रिकेट रिश्तों की बहाली समेत दोनों देशों के बीच अनंत सभावनाओं का निर्माण होगा. 

दरअसल रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के ये कहने के बाद कि इस कदम ने भारत के सैनिकों का मनोबल गिराया है, सिद्धू ने कहा, ‘‘आपने ये मुद्दा फिर से उठाना शुरू कर दिया. सिद्धू इतने महत्वपूर्ण व्यक्ति हो गए हैं कि रक्षा मंत्री बयान देती हैं… ये केवल एक झप्पी थी, कोई साजिश नहीं. झप्पी राफेल सौदा नहीं है, झप्पी गुरसिखों पर गोलियां चलाना नहीं है.” बता दें कि सिद्धू अगस्त में इमरान के शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा लेने पाक गए थे। यहां बाजवा से गले मिले थे। इस पर भाजपा ने सिद्धू और कांग्रेस पर निशाना साधा था। भाजपा का आरोप था कि बाजवा भारत में होने वाली जवानों की शहादत के लिए जिम्मेदार हैं। यहां आतंकी हमलों में नागरिकों की मौत के लिए जिम्मेदार हैं। लेकिन इसके बावजूद सिद्धू बाजवा से गले लगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *