कुछ दिन तक नहीं सुन पाएँगे सिद्धू की आवाज़, हो गया है बड़ा ख़त-रा

नई दिल्ली: पूर्व क्रिकेटर और पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की आवाज जाने का बड़ा ख़त-रा पैदा हो गया है। फिलहाल डॉक्टरों ने उन्हें तीन से पांच दिन तक पूरी तरह से आराम करने की नसीहत दी है। बता दें कि पिछले कुछ दिनों से सिद्धू लगातार कांग्रेस की तरफ से विधानसभा चुनावों के लिए प्रचार अभियान में जुटे रहे हैं।  एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि पिछले 17 दिनों तक सिद्धू ने लगातार चुनाव प्रचार में हिस्सा लिया। इस दौरान उन्होंने 70 से अधिक जनसभाएं कीं। 

जानकारी के अनुसार उनके खून के कई परीक्षण किए गए हैं और नतीजों का गंभीरता पूर्वक मूल्यांकन किया जा रहा है। सिद्धू संपूर्ण जांच और स्वास्थ्य रिकवरी के लिए एक अज्ञात स्थान पर चले गए हैं। उन्हें सांस लेने के अभ्यास करवाया जा रहा है। जानकारी के अनुसार वहां सिद्धू डॉक्टरों की निगरानी में हैं और उनके निर्देश पर उनकी फिजियोथेरेपी भी हो रही है। साथ ही,विशेष दवाएं दी जा रही हैं।

एक आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि हवाई जहाज और हेलिकॉप्टर से लगातार यात्रा ने उनके स्वास्थ्य को खासा नुकसान पहुंचाया है। वह पहले ही एंबोलिज्म (धमनी में खून का थक्का जमना या हवा का बुलबुला बनना) के लिए उपचार करवा रहे थे। यह इसलिए भी साल पहले लगातार हवाई यात्रा करने के कारण वह डीप वेन थ्रोम्बोसिस (डीवीटी) से पीड़ित रहे थे। चिकित्‍सा विशेषज्ञ इसे इस रूप में देखते हैं जब शरीर उत्साह से भरा हो और दिमाग तथा शरीर लगातार तेज बोलने को लेकर प्रेरित कर रहा हो और गला आपका साथ न दे तो इसे लिरिंगजाइटिस की बीमारी कहते हैं। यानी शरीब व दिमाग नहीं थका लेकिन गला थक गया। दोनों से बीच तालमेल खराब होने से यह बीमारी होती है।

बता दें कि हाल के दिनों में नवजोत सिंह सिद्धू करतारपुर कॉरिडोर की वजह से पाकिस्तान जाने के सिलसिले में सुर्खियों में आए थे। उन्होंने बाद में कहा था कि राहुल गांधी मेरे कैप्टन हैं। बीते शुक्रवार को हैदराबाद में एक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए सिद्धू ने कहा था कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी उनके कैप्टन हैं। वहीं, पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह सेना के कप्तान थे। इसके बाद बयान को लेकर काफी बवाल मचा और पंजाब के चार मंत्रियों ने कैबिनेट से उनका इस्तीफा भी मांगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.