इस्लाम में महिला और पुरुष को बराबरी का हक है, क्राउन प्रिंस सलमान ने दिए इस बड़े बदलाव के संकेत

March 19, 2018 by No Comments

सऊदी क्राउन प्रिंस सलमान की अगुवाई में सऊदी अरब में सोशल और इकनोमिक रिफॉर्म्स का दौर चल रहा है। सऊदी अरब की तरक़्क़ी तेल पर निर्भर नहीं रह सकती। सऊदी सरकार इस बात को समझती है कि तेल हमेशा नहीं रहेगा और अब अर्थव्यवस्था का विस्तार करने की ज़रूरत है। इस बात की एहमियत को समझते हुए सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान ने अपना विज़न-2030 शुरू किया है।
सऊदी अरब में महिलाओं के लिए बहुत बड़े बदलाव किये गए हैं। पिछले दिनों हुए कुछ सुधारों की बात करें तो महिलाओं को खेल को खेल के मैदान से देखने की इजाजत दी गई है। महिलाओं को ड्राइविंग की अनुमति दी गई है, महिला सुरक्षा के लिए भी विशेष काम हुए हैं। महिला अधिकारों के लिए एक काम ये भी हुआ है कि अब तलाक़शुदा महिलाओं को बच्चे की कस्टडी बिना किसी कोर्ट केस के दी जाएगी।
अब सऊदी क्राउन प्रिंस सलमान ने महिलाओं की पारंपरिक पोशाक को लेकर बड़ा बदलाव करने की घोषणा की है। अमेरिकी मीडिया आउटलेट को दिए अपने पहले टीवी इंटरव्यू में, क्राउन प्रिंस सलमान ने महिलाओं के अधिकारों और उनके काले गाउन जो सऊदी महिलाओं की पारंपरिक पोशाक “अबाया” को लेकर कहा है की उन्हें अपनी पोशाक पहनने का चयन करने की आजादी होना चाहिए। इस दौरान उन्होंने महिलाओं के अधिकारों की बात की।.

अल अरेबिया के मुताबिक, सीबीएस न्यूज़ चैनल की एंकर नोरा ओडोनेल से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा की इस्लाम में महिला और पुरुष का बराबरी का हक है। लेकिन समाज में मौजूद कटटरपंथी लोग इसे नहीं समझते। महिलाओं को क्या पहनना है, उन्हें इसकी आजादी होनी चाहए और यह काले अबाया तक सीमित नहीं होना चाहिए। इस दौरान उन्होंने एंकर को “मॉडरेट इस्लाम” को बदावा देने के प्रयासों के बारें में बताया। उन्होंने कहा कि हम ब्रिटेन के साथ मिलकर मॉडरेट इस्लाम को बढ़ावा देंगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *