त्रिपुरा नतीजों के बाद फिर शुरू हुई EVM को लेकर बहस, “EVM सेटिंग से हुई CPM की हार”

March 3, 2018 by No Comments

त्रिपुरा विधानसभा चुनाव के नतीजे आ गए हैं और अब ये पूरी तरह साफ़ हो गया है कि पिछले 25 सालों से सत्ता में रही सीपीएम चुनाव हार गयी है. दक्षिणपंथी भाजपा की जीत पर हालाँकि अभी भी कुछ लोग यक़ीन नहीं कर पा रहे हैं. इसको लेकर अब एक बार फिर ये सवाल उठ रहे हैं कि क्या वाक़ई त्रिपुरा में भाजपा की जीत सही है या फिर इसमें कोई EVM घोटाला वग़ैरा कुछ है. सोशल मीडिया पर भी ये बहस तेज़ हो गयी है. लेफ़्ट से जुड़े लोग लगातार सोशल मीडिया पर अपना पक्ष रख रहे हैं और कह रहे हैं कि चुनाव में हार की वजह EVM सेटिंग है.

इस बारे में प्रवीण पांडे अपनी फ़ेसबुक पोस्ट में कहते हैं कि “त्रिपुरा की जनता ने हमें जीतने के लिए वोट किया था। EVM की सेटिंग से हम चुनाव हार गए। यदि हम हार को जनता का जनादेश मान लेते है तो यह जनता पर आरोप और जनता का अपमान होगा।” उन्होंने कहा,”ये हमारी हार नही है, ये लोकतंत्र की हार है। चुनाव में हिस्सेदारी करने वाली पार्टी होने के वजह से हमारी जिम्मेदारी है कि EVM सेटिंग से जो लोकतंत्र का गला घोंटा जा रहा उसके खिलाफ आवाज़ उठायें। धनबल, बाहुबल, जोड़तोड़ सबकुछ करने के बावजूद भी, सबसे बड़ा खेल EVM सेटिंग का है।चुनाव परिणाम का नही, पूरे चुनाव का विश्लेषण करें।” वो इसके साथ ‘#EVM_हटाओ__लोकतंत्र_बचाओ’ हैशटैग भी जोड़ते हैं.

हर विधानसभा चुनाव के बाद EVM को लेकर बहस आम होती जा रही है. देखा जाए तो EVM का विरोध कई पार्टियां कर चुकी हैं जबकि इसके समर्थन में पूरी तरह से सिर्फ़ भाजपा ही नज़र आती है या फिर वो दल जो भाजपा के साथ जुड़े हुए हैं.चुनाव आयोग भी इस मामले में उन लोगों को संतुष्ट करने में नाकाम रहा है जो EVM का विरोध कर रहे हैं.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *