सोनिया गाँधी ने 2019 को लेकर भरी हुंकार, कहा-"किसी भी हाल में बीजेपी को…"

December 19, 2018 by No Comments

हेलो दोस्तों आज हमारे पास एक बड़ी खबर है ।खबर यह है कि सोनिया गांधी ने सीधे-सीधे कह दिया है कि नरेंद्र मोदी को दोबारा सत्ता में नहीं आने देंगे। यह अब तक की सबसे बड़ी खबर है जो कि हम आप तक पहुंचाने चाहते हैं 2019 का चुनाव एक नया मोड़ लेएगा। कांग्रेस इस तरह की हुंकार भर सकती है यह अब तक तो नहीं सोचा गया था.
मोदी सरकार पर सोनिया गांधी का यह अब तक का सबसे बड़ा बयान है इंडिया टुडे के कॉन्फ्रेंस में सोनिया गांधी ने कहा कि कांग्रेस बीजेपी को सत्ता में नहीं आने देगी इस बार। अगर कांग्रेस सरकार बनाने में समर्थ रही तो भी ,नहीं तो वह गठबंधन से सरकार बनाने में पीछे नहीं हटेगी। सोनिया गांधी ने अपने बयान में यह भी कहा कि नरेंद्र मोदी 2014 में किए गए सभी वादों को पूरा करने में असफल रहे हैं.

google


सोनिया गांधी का यह बयान तब आया जब महज 4 दिन पहले विपक्ष की अलग-अलग पार्टियों को डिनर पर बुलाया गया। 4 दिन पहले विपक्षी पार्टियों को डिनर पर बुलाने के बाद ऐसा क्या हो गया कि सोनिया गांधी ने सीधे कह दिया कि बीजेपी को सत्ता में नहीं आने देंगे.
दोस्तों आइए जानते हैं सोनिया गांधी के इस बयान पर राज किशोर जी का क्या कहना है राज किशोर जी कहते हैं” देखिए सोनिया गांधी जी 2004 में ऐसा करके दिखा चुके हैं उस वक्त अटल बिहारी बाजपेई की तुलना मे सोनिया गांधी जी का चेहरा काफी कमजोर माना जाता था और उस समय उनका विदेशी मूल के होने के मुद्दे को बीजेपी बार-बार उछाल रही थी.

google


उस वक्त सोनिया गांधी जी ने कुछ ऐसा गठबंधन किया NDA सत्ता में नहीं आ सकी और UPA 7 सीटें ही सही लेकिन सत्ता बनाने में कामयाब रही और यह काम छोटी-छोटी पार्टियों को मिलाकर किया गया था अब खास बात है कि उस समय वह कांग्रेस की अध्यक्ष बनी थी अब उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष का पद छोड़ने के बाद यह हुंकार भरी है वह बीजेपी को सत्ता में नहीं आने देंगी.
और यह सक्रियता भी तब आई है जब 2019 के चुनाव की तैयारी शुरू हो चुकी है। ऐसे समय में सोनिया का सामने के आना एक चुनौती देने की कोशिश है जो इस समय मोदी और शाह का विजय रथ के घोड़े को कोई पकड़ नहीं पा रहा है सोनिया का सामने आकर है चुनौती देना एक अच्छा प्रयास है और यह चुनौती विपक्ष के नेताओं को भरोसा दिलाने का काम करेगी कि वक्त आने पर हम पूरी तरीके से बीजेपी से लड़ने के लिए तैयार हैं और मुझे लगता है उसी दिशा में सोनिया गांधी ने यह कदम उठाया है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *