सूरत: भाजपा युवा मोर्चा की रैली के ख़िलाफ़ पाटीदारों का हिंसक प्रदर्शन

सुरत: पाटीदार समुदाय के सदस्यों की गिरफ्तारी के बाद सुरत में तनाव है,सुरत में पाटीदार कम्युनिटी के पर्दर्शनकारियों ने दो बसों में आग लगा दी इनकी मांग है गिरफ्तार किये गये उनके नेताओ की तुरंत रिहाई की जाए.

पुलिस ने पाटीदार समुदाय के इन नेताओ की गिरफ्तारी भाजपा युवा मोर्चा की एक रैली में कोई व्याधान ना हो इस लिए लॉ एंड आर्डर बनाये रखने का हवाला देकर की है.

पाटीदार समुदाय के लोगो ने सूरत के हीराबाग़ चौक एरिया में बसों में आग लगा दी है.वही हार्दिक पटेल ने ट्विट्टर पर एक टवीट करते हुए सडक पर क्रांति की धमकी दी है.उन्होंने कहा कि अगर उनके समुदाय के लोगो को रिहा नही किया गया फिर रोड पर क्रांति होगी.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार दस से 15 पाटीदार नेताओ की भाजपा यूथ रैली से पहले गिरफ्तारी की गयी.समाचार लिखे जाने तक सूरत के हिराबाग में अभी भी पाटीदार समुदाय के सैकड़ो युवा मौजूद है और उन्होंने जाम लगा रखा है.

बता दे अगले वर्ष गुजरात में विधानसभा चुनाव होना है भाजपा हार्दिक पटेल और उनके संघठन को अपने लिए नुक्सानदेह मानती है पिछले दिनों हार्दिक पटेल की भी एक व्यक्ति को धमकी देने और पैसे छीनने के आरोप में पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था.

हार्दिक पटेल को इस मामले में 8 सितम्बर को कोर्ट से जमानत मिल गयी,राजनीतिक पंडितो के अनुसार गुजरात के सूरत में पटेल समुदाय की बड़ी आबादी है और इसका इस शहर पर दबदबा है इस लिहाज़ से भाजपा यूथ की रैली में इनके विरोध प्रदर्शन करने की आशंका थी.

पुलिस द्वारा पटेल समुदाय के इन नेताओ की गिरफ्तारी इसी रैली को ऐसे विरोध से बचाने की हो सकती है लेकिन जिस प्रकार से सुरत में हिंसा हो रही है वो भाजपा और राज्य की सरकार को उलटा विधानसभा में नुक्सान पहुचा सकती है.

गुजरात में पटेल समुदाय की जनसख्या 15 पर्तिशत से अधिक है और ये राज्य का सबसे बड़ा समुदाय है जोकि गुजरात में जीत और हार में अहम भूमिका निभाता रहा है अब तक ये समुदाय भाजपा का परम्परागत वोटर रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.