MP में फँसा पेंच तो सपा ने की कांग्रेस को समर्थन देने की घोषणा, GGP ने भी बनाया मन

पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में देखा जाए तो लगभग सभी राज्यों में स्थिति क्लियर हो गयी है लेकिन मध्य प्रदेश ऐसा राज्य है जहां पेंच फँस गया है. इस समय कांग्रेस और भाजपा दोनों में ही कांटे की लड़ाई चल रही है. दोनों ही पार्टियाँ 110 सीटों पर आगे चल रही हैं और कभी एक तो कभी दूसरी पार्टी बढ़त पर है. इस बीच बड़ी ख़बर ये है कि समाजवादी पार्टी और गोंडवाना गणतंत्र पार्टी ने कहा है कि वो भाजपा के साथ नहीं जायेंगे.

हालाँकि समाजवादी पार्टी ने ये भी कहा कि उन्हें लगता है कि शाम होने तक कांग्रेस अपने दम पर ही सरकार बनाने की स्थिति में होगी. दोनों ही पार्टियाँ १-१ सीट पर आगे हैं. इसके अलावा बहुजन समाज पार्टी बड़ा रोल अदा कर सकती है. बसपा इस समय तीन सीटों पर आगे चल रही है. बसपा ने अभी तक अपने पत्ते नहीं खोले हैं परन्तु ऐसी ख़बरें हैं कि मायावती ने बसपा के आगे चल रहे प्रत्याशियों से संपर्क साधा हुआ है. कांग्रेस ने भी निर्दलीय विधायकों से बात करनी शुरू कर दी है. दूसरी ओर भाजपा भी स्थिति को बहुत नज़दीक से देख रही है.

230 सीटों की विधानसभा में अगर कांग्रेस-भाजपा बराबर रहते हैं और कोई भी दल बहुमत नहीं पाता, उस सूरत में ये छोटे दल बड़ा रोल अदा कर सकते हैं. कांग्रेस और भाजपा दोनों के ही नेता अभी इस बारे में उम्मीद लगा रहे हैं कि अंत में वो चुनाव जीत सकते हैं. इस बीच कांग्रेस के वरिष्ट नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बयान दिया है कि जो भी नतीजा आयेगा वो उसे सर माथे लगायेंगे.

अन्य राज्यों की बात करें तो छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की बड़ी जीत नज़र आ रही है वहीं राजस्थान में भी पार्टी को बहुमत मिलता दिख रहा है. मिजोरम में MNF ने चुनाव में जीत हासिल की है जबकि तेलंगाना में टीआरएस के आगे भाजपा और कांग्रेस दोनों साफ़ हो गए हैं. तेलंगाना में AIMIM अपना गढ़ बचाने में कामयाब रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.