सपा-बसपा का गठबंधन हुआ तो भाजपा का हो जाएगा सफ़ाया

February 7, 2018 by No Comments

लखनऊ: सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ऐसे संकेत दिए हैं कि वो बसपा से हाथ मिला सकते हैं. ऐसे में अब ये कयास लगाए जाने लगे हैं कि बसपा सुप्रीमो मायावती गठबंधन करेंगी या नहीं. वैसे गठबंधन को लेकर सबसे बड़ा मसला सीटों के बंटवारे को लेकर ही होने वाला है. इस तरह का सवाल जब एक बार मायावती के सामने आया थ तो उन्होंने सीटों के बंटवारे के सवाल को ही अहम् माना था.

हालाँकि जानकारों के मुताबिक़ इस चुनाव में दोनों ही पार्टियां इस कोशिश में हैं कि किसी भी तरह से भाजपा को चुनाव ना जीतने दिया जाए और ऐसे में ये मुमकिन है कि दोनों गठबंधन कर लें. ऐसे में दोनों ही पार्टियों को कुछ सीटों का त्याग करना पड़ेगा जोकि बसपा और सपा के कार्यकर्ताओं के लिए समस्या की बात होगी. दोनों ही दलों में कई सालों से लगातार काम कर रहे नेता इस उम्मीद में हैं कि उन्हें सांसदी का टिकेट मिले लेकिन ऐसे में उन्हें संतुष्ट करना मुश्किल होगा.

हालाँकि गठबंधन होने की सूरत में भाजपा के लिए मुसीबत खड़ी हो जायेगी क्यूँकि दलित, मुस्लिम और यादव वोट जब एक साथ जाएगा तो भाजपा के लिए जीतना मुश्किल होगा और उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में से भाजपा को कुछ ही सीटें मिल पायें. ये भी मुमकिन है कि भाजपा का पूरी तरह सफ़ाया हो जाए.

फिर भी अभी इस बारे में ख़ास कुछ कहना जल्दबाज़ी ही होगी क्यूँकि अभी लोकसभा चुनाव को भी एक साल से कुछ अधिक का समय है और इस बीच कुछ नयी बातें भी सामने आ सकती हैं.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *