युवाओं में पकड़ मज़बूत कर रही है सपा, लोकसभा चुनाव में कर सकती है कमाल

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में यूँ तो अब सरकार समाजवादी पार्टी की नहीं है लेकिन जिस हिसाब से सपा प्रदेश में अपनी पकड़ मज़बूत करने में लगी है उससे तो ऐसा लगता है कि लोकसभा चुनाव में सपा कोई बड़ा कमाल कर सकती है. सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पार्टी को एकदम नया रंग दे दिया है.

अखिलेश इस कोशिश में हैं कि पार्टी को बुद्धजीवी लोगों का भी साथ मिले और साथ ही युवा जोश भी उनके साथ जुड़े. शायद इसी का नतीजा है कि पिछले दिनों अलग अलग छात्र संघठनों के नेता सपा में शामिल हो गए. ऐसा नहीं है कि सिर्फ़ SFI या AISA जैसे संघठनों के लोग सपा से जुड़े हैं बल्कि सपा ने ABVP में भी सेंध लगा दी है. स्थिति तो ये है कि ABVP राज्य में सत्ता में होने के बावजूद भी ख़ुद को कमज़ोर महसूस कर रही है. वैसे इसका श्रेय पूरी तरह से अखिलेश को जाता है. अखिलेश ने जिस तरह से छात्रों से संवाद क़ायम किया है वो अपने आप में क़ाबिल ए तारीफ़ है. उनके लगातार संवाद करने से पार्टी की छवि एक लोकतान्त्रिक पार्टी की बनी है. सिर्फ़ इतना ही नहीं अखिलेश हुनर पहचान करने में चूकते नहीं हैं और लोगों को उनकी समझदारी के हिसाब से काम दे रहे हैं.

नगर निगम चुनावों में भी सपा ने छात्र नेताओं को तवज्जो दी है. इतना ही नहीं सपा के छात्र संघठन समाजवादी छात्रसभा ने इलाहाबाद यूनिवर्सिटी और काशी विद्यापीठ में जीत का परचम लहराया जबकि भाजपा के छात्र संघठन ABVP को क़रारी शिकस्त मिली है. भाजपा भी इस बात को भली-भांति समझ तो रही है लेकिन कहीं भी वो सपा के मुक़ाबले नज़र नहीं आ रही है. नगर निगम चुनाव में भी सपा के कार्यकर्ता नज़र आ रहे हैं. देखा जाए तो भले ही चुनावी जंग में सपा पिछली बार हार गयी हो लेकिन अब जो तैयारी है उससे भाजपा और दूसरे विरोधी दल घबराये हुए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.