सपा से अलग होकर बुरी फसी निषाद पार्टी,अब भाजपा ने रखी ऐसी शर्ते कि…

March 31, 2019 by No Comments

भारतीय जनता पार्टी और निषाद पार्टी में सीट बंटवारे पर पेच फंस गया है.निषाद पार्टी गोरखपुर के अलावा दो और सीटें मांग रही है जबकि भाजपा ने गोरखपुर सीट देने से फिलहाल इनकार कर दिया है.हां-ना की कशमकश के बीच प्रदेश के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह संजय निषाद, प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पाण्डेय और गोरखपुर के सांसद प्रवीण निषाद को लेकर दिल्ली रवाना हो गए हैं.गेंद अब भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के पाले में है.माना जा रहा है कि इस पर रविवार को कोई फैसला हो सकता है.
शुक्रवार को संजय निषाद ने अपने दो साथियों के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर सियासी हलचल पैदा कर दी थी.मुख्यमंत्री से मुलाकात से पहले संजय व प्रवीण का बयान आया कि समाजवादी पार्टी व बसपा गठबंधन में उनकी उपेक्षा की जा रही है.शनिवार को माना जा रहा था कि संजय निषाद भाजपा में शामिल हो सकते हैं.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को भाजपा मुख्यालय पर शामली के बड़े गुर्जर नेता चौधरी वीरेंद्र सिंह को तो भाजपा में शामिल कराया लेकिन संजय निषाद को लेकर पार्टी ने अचानक चुप्पी साध ली.पार्टी सूत्रों का कहना है भाजपा का निषाद पार्टी के साथ गठबंधन लगभग तय है लेकिन सीटें तय नहीं हो पा रही हैं.
उधर, संजय निषाद ने भी शनिवार को मीडिया से दूरी बनाए रखी और घंटों उनके बारे में कोई जानकारी नहीं मिली.दोपहर बाद पता चला कि संजय निषाद मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह के साथ दिल्ली चले गए हैं.वहां अमित शाह से मुलाकात करने के बाद ही तस्वीर साफ होगी.

पार्टी सूत्रों का दावा है कि संजय निषाद गोरखपुर से अपनी पार्टी के बैनर तले चुनाव लड़ना चाह रहे हैं.भाजपा को इस पर ऐतराज है.अव्वल तो पार्टी ने उन्हें गोरखपुर से टिकट देने से मना कर दिया फिर यह भी मंथन हुआ कि संजय भाजपा के बैनर तले ठीक उसी तर्ज पर चुनाव लड़ें जैसा कि उन्होंने उपचुनाव में किया था.
सूत्रों का कहना है कि संजय इस पर राज़ी नहीं हुआ.वहीं दो अन्य सीटों को लेकर भी सहमति नहीं बन सकी.अंतत: तय किया गया कि उन्हें केंद्रीय नेतृत्व के पास अंतिम निर्णय के लिए भेज दिया जाए.चूंकि अमित शाह शनिवार को गांधी नगर में थे,उनके देर रात दिल्ली लौटने की संभावना थी.माना जा रहा है कि रविवार को ही अमित शाह से मुलाकात के बाद ही सीट बंटवारे पर अंतिम फैसला हो सकेगा.

बीजेपी


अमित शाह से बात करने के बाद निषाद पार्टी के साथ भाजपा पूर्वांचल की दो सीटों पर गठबंधन कर सकती है.ये सीटें जौनपुर,मछलीशहर या फिर अम्बेडकर नगर हो सकती हैं.भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने भी कहा कि निषाद पार्टी के साथ गठबंधन को लेकर बातचीत सकारात्मक है,इस मामले पर राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को फैसला करना है.
इसी दौरान दूसरे सहयोगी दल भारतीय सुहेलदेव समाज पार्टी के ओमप्रकाश राजभर के साथ भी राष्ट्रीय अध्यक्ष बात करेंगे.संभव है कि घोसी सीट देकर उन्हें मना लिया जाए.प्रदेश में भाजपा के तीसरे सहयोगी दल अनुप्रिया पटेल की अपना दल को दो सीटें देने की बात भाजपा पहले कर चुकी है.इनमें से एक सीट मिर्जापुर से खुद अनुप्रिया पटेल लड़ेंगी.दूसरे पर उनकी बातचीत भाजपा नेतृत्व से चल रही है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *