श्रीदेवी की मौत को सेंसेशनलाइज़ करना गिरी मानसिकता

February 27, 2018 by No Comments

श्रीदेवी की मौत पर चैनल वाले जो रायता फैलाये हैं वो उनकी मानसिकता को दर्शाता है। एक मशहूर अदाकारा की मौत को किस तरह लोग सेंसेशन में तब्दील कर देते हैं वो हम सभी देख रहे हैं। आजकल पैसा कमाने की ऐसी दौड़ लगी है कि लोग इंसानियत भी भूल चुके हैं।

श्रीदेवी की मौत कैसे हुई और उसके क्या कारण थे, इसका पता दुबई की पुलिस लगा रही है लेकिन भारतीय मीडिया ने पहले ही बहुत सारी थेऔरीज़ बना दी हैं और कई एक नए इशारों में बोनी कपूर को दोषी ठहरा दिया है, इस तरह के जर्नलिज्म की वजह से आज देश के मीडिया का कोई सम्मान नहीं रह गया है।

असल में आजकल के कथित जॉर्नलिस्ट अपने को भगवान समझते हैं और बहुत जल्द ही फ़ैसला सुनाने लगते हैं। कुछ यही बात है जिस वजह से कमरे के अंदर एक कहानी बनायी जाती है और उसके बाद उसे रिसर्च का नाम दे दिया जाता है। हालांकि इसमें ग़लती सिर्फ़ न्यूज़ वालों की नहीं, ग़लती पब्लिक की भी है। जो कुछ चैनल वाले ठीक हैं भी उन्हें पब्लिक कोई तवज्जो नहीं देती और उसे भी सेंसेशन पसंद है। वो भी लगातार ऐसी ही चीज़ें देखती है और इसी पर बहस चाहती है। कहीँ ना कहीं ऐसा लगता है जैसे पब्लिक को भी ग़रीब लोगों के मरने की परवाह कम है। फ़िलहाल समाज एक ऐसे स्तर पर है जहाँ किसी की मौत पर तभी रोना होता है जब वो अपने धर्म का है, अपनी विचारधारा का या कोई मशहूर व्यक्ति। समाज का ये रूप आगे और कितना भयानक होगा ये तो वक़्त बताएगा लेकिन कोशिश होनी चाहिए कि इसे ठीक किया जाए।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *