किंग ख़ान का जन्मदिन मनाने मुंबई में जमा हुए सैंकड़ों लोग

November 2, 2017 by No Comments

बॉलीवुड के सुपरस्टार शाहरुख़ ख़ान का आज जन्मदिन है. शाहरुख़ का जन्म 2 नवम्बर 1965 को हुआ था. इस लिहाज़ से वो 52 साल के हो गए हैं. इस मौक़े पर उनके चाहने वाले बहुत ख़ुश हैं और उत्साहपूर्वक बॉलीवुड के “बादशाह” का जन्मदिन मना रहे हैं.

इस मौक़े पर फ़िल्म इंडस्ट्री के उनके दोस्तों ने भी उनको बधाई दीं. उनकी दोस्त फ़राह ख़ान ने एक फोटो करते हुए कहा,”happiest birthday to my handsome friend @iamsrk .. lov u always”

फ़रहान अख्तर ने भी इन्स्टाग्राम पर एक पोस्ट डाल कर उन्हें बधाई दी है. कई और सेलिब्रिटीज़ ने शाहरुख़ के जन्मदिन पर उन्हें बधाई दी है.

इस मौक़े पर विशेष तैयारी कर उनके फैन उनके घर के बाहर मुंबई में जमा हुए हैं.

शाहरुख़ का फ़िल्मी करियर
शाहरुख़ के फ़िल्मी सफ़र की शुरुआत हेमा मालिनी की दिल आशना है फ़िल्म से हुई. हालाँकि उनकी ऋषि कपूर और दिव्या भारती के साथ आयी दीवाना पहले रिलीज़ हो गयी. दीवाना ने शाहरुख़ को रात-ओ-रात मशहूर कर दिया. शुरू के दौर में उनकी चमत्कार, दिल आशना है और राजू बन गया जेंटलमैन हलके फुल्के अंदाज़ वाली फ़िल्में ही कही जायेंगी. इसके बाद उनकी “एंटी-हीरो” वाली फ़िल्में आयीं जिसमें उन्हें शानदार कामयाबी मिली. उनकी बाज़ीगर, और डर सुपरहिट रहीं तो उनके काम को भी वाह-वाही मिली. इसी तरह की अंजाम बॉक्स ऑफिस पर तो कम चली लेकिन उनके काम की तारीफ़ मिली. इसी दौर में आयी उनकी “कभी हाँ कभी ना” एक कल्ट-क्लासिक फ़िल्म मानी जाती है.

“कभी हाँ कभी ना” बॉलीवुड की उन चंद फ़िल्मों में से है जिसमें हीरो की हार होती है. इसके बाद कारन अर्जुन से उनकी एक नयी इमेज बनी लेकिन दिलवाले दुल्हनिया ले जायेंगे के बाद वो पूरी तरह से रोमांटिक हीरो की तरह जाने जाने लगे. इसके बाद परदेस, दिल तो पागल है, कुछ कुछ होता है से उन्होंने ख़ुद को पूरी तरह से स्थापित कर लिया. यही वो दौर है जब उन्हें बॉलीवुड का किंग ख़ान कहा जाने लगा.

बादशाह, फिर भी दिल है हिन्दुस्तानी और असोका ने उनके करियर में ब्रेक लगाने की कोशिश तो की लेकिन इस दौर में भी उनकी मुहब्बतें और कभी ख़ुशी कभी ग़म जैसी फ़िल्में आती रहीं.

इसके बाद उनकी वीर-ज़ारा, स्वदेस और मैं हूँ ना जैसी फ़िल्मों ने और मज़बूत किया. फ़रहान अख्तर की डॉन, फ़राह ख़ान की ओम शांति ओम भी सुपर हिट रहीं. रब ने बना दी जोड़ी, चक दे इण्डिया और माय नेम इज़ ख़ान उनकी बाद की बड़ी फ़िल्में कही जा सकती हैं. इसके बाद उनके करियर में कुछ ढलान तो है ही. ये वो दौर भी है जब सलमान ख़ान ने दूसरे नंबर/तीसरे नंबर की पोजीशन से पहले नंबर की गद्दी संभाली.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *