नाक के नीचे हुआ SSC महाघोटाला, साहेब बताएं इसपर पर्दा क्यों डाला: राहुल गाँधी

March 15, 2018 by No Comments

दिल्ली में SSC की परीक्षा देने वाले छात्र 27 फरवरी से लोधी रोड में सीजीओ कांप्लेक्स में कर्मचारी चयन आयोग के बाहर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। ये छात्र जहाँ इक्क्ठे होकर 17-21 फरवरी को हुई जॉइंट ग्रेजुएशन लेवल (सीजीएल) परीक्षा में कथित पेपर लीक की सीबीआई जांच कराने की मांग कर रहे हैं। छात्रों का कहना है कि उनके भविष्‍य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। इस घोटाले की जांच केंद्र सर्कार ने सीबीआई को सौंपी है।
वहीँ अब ये मामला सुप्रीम कोर्ट में पहुंच गया है, एसएससी घोटाले का मामला दो दिन पहले ही सुप्रीम कोर्ट पहुंचा है। एडवोकेट एम एल शर्मा ने इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दायर की थी। सुप्रीम कोर्ट ने इस याचिका को स्‍वीकार करने के बाद केंद्र सरकार से जवाब मांगने के साथ ही अगले हफ्ते सरकारी कानून अधिकारियों को कोर्ट में आने के लिए कहा था। सुप्रीम कोर्ट ने अतिरिक्‍त सॉलिसिटर जनरल को जांच की स्‍टेटस रिपोर्ट देने के लिए कहा था।

इस मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। राहुल ने सोशल मीडिया साइट ट्विटर पर ट्वीट कर लिखा है कि

जुमला था हर साल 2 करोड़ रोज़गार, ऊपर से वैकेंसियों पर वार

नाक के नीचे होता SSC महाघोटाला, साहेब बताएं इसपर पर्दा क्यों डाला?

युवाओं का भविष्य कर रहे तार तार, क्या नौकरियों पर सिर्फ़ पैसे वालों का अधिकार?

युवाओं के भविष्य से खेलना बंद करो, व्यापम का राष्ट्रीयकरण करने वालों शर्म करो।

आपको बता दें की इस घोटाले के खिलाफ ‘वी वॉन्ट जस्टिस’ और ‘एसएससी हाय हाय’ के नारे लगाते लगाते छात्र पिछले 15 दिनों से दिन-रात दिल्ली में जुटे हैं। कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) कार्यालय के बाहर प्रदर्शन कर रहे छात्र लगातार सरकार का विरोध कर रहे हैं। छात्रों का कहना है कि एसएससी की कार्यप्रणाली को लेकर छात्रों में लंबे समय से रोष था लेकिन इस घटना ने सब्र का बांध तोड़ दिया है।

इस विरोध प्रदर्शन के 13वें दिन छात्रों ने एसएससी की तेरहवीं मनाई और सरकार को उन्हें आश्वासन नहीं देने की सलाह दी। छात्रों ने कहा कि ये सरकार रोजगार के नाम पर हमें सपने दिखा रही है, लेकिन उन्हें पूरा करने के लिए कुछ नहीं कर रही है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *