सुब्रमण्यम स्वामी ने दी बड़ी आर्थिक मंदी की चेतावनी-‘वित्त मंत्रालय गंभीर क़दम उठाये वरना बैंक, फैक्ट्रियाँ बंद होना शुरू हो सकती हैं’

नई दिल्ली: बीजेपी के हाथ में आई भारत की अर्थव्यवस्था काफी बुरे हालात में चल रही है। जिसपर बीजेपी के ही वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने भारी चिंता व्यक्त की है।

भारतीय अर्थव्यवस्था की मौजूदा स्थिति को लेकर स्वामी ने कहा है कि बीजेपी के राज में भारत की अर्थव्यवस्था बेहद बुरी से पटरी से उतर रही है और जल्द अगर जरूरी कदम नहीं उठाए गए तो ये बर्बाद हो सकती है।स्वामी ने इस बात का दावा किया है कि उन्होंने इस मामले में पीएम मोदी को करीब डेढ़ साल पहले 16 पन्नों का खत लिखकर गिरती अर्थव्यवस्था को लेकर उन्हें चेताया था।

इस बारे में स्वामी ने सीएनएन- न्यूज 18 को हाल ही में दिए इंटरव्यू में बात करते हुए बताया। उन्होंने कहा कि आज अर्थव्यवस्था में जिस तरह से गिरावट आ रही है, उसे कंट्रोल करना काफी मुश्किल हो रहा है। अगर इसी तरह से ये नीचे जाती रही तो ये क्रैश हो सकती है।अर्थव्यवस्था को सुधारने के लिए हमें बहुत सी अच्छी चीजें करने की जरूरत है। अगर कुछ नहीं किया जाता है, तो हमारी अर्थव्यवस्था कमजोर होती चली जाएगी।

उन्होंने कहा कि जिससे देश के बैंक बर्बाद हो सकते हैं, फैक्ट्रियां बंद होनी शुरू हो सकती हैं। देश के व्यापारियों के बिज़नेस घाटे में जा सकते हैं। पिछले साल पीएम को लिखे खत में मैं उन्हीं के विभाग से निकाले गए आंकड़ों के साथ 16 पन्नों का खत पूरा ब्योरा दिया था।इसमें उन्हें गिरती अर्थव्यवस्था की चेतावनी दी थी। केंद्र सरकार देश की विकास दर को लेकर जो दावे का रही है, दरअसल सच्चाई उससे कुछ अलग ही है। उन्होंने कहा, ‘जीडीपी के आंकड़ों के बारे में जो आपको बताया जा रहा है, उससे ये कम है।वित्त वर्ष 2017-18 की पहली तिमाही में जीडीपी तीन साल के सबसे निचले स्तर 5.7 फीसदी पर पहुंच चुकी है। जबकि वित्त वर्ष 2016-17 की पहली तिमाही में जीडीपी 7.9 फीसदी के स्तर पर थी। जोकि भारत के लिए चिंता करने के संकेत है। वित्त मंत्रालय को इसपर गंभीर कदम उठाने की जरूरत है। अगर अब भी नहीं संभलेंगे तो देश और सरकार के लिए काफी मुश्किलें खड़ी हो सकती है।’

Leave a Reply

Your email address will not be published.