“मूर्ति मामले” में मायावती का बड़ा बयान, PM को दी ये नसीहत

March 8, 2018 by No Comments

त्रिपुरा में लेनिन की मूर्ति के गिराए जाने के बाद देश भर में मूर्तियों पर हमले की ऐसी ख़बरें आई हैं कि सोशल मीडिया से लेकर हर जगह इसी की चर्चा है. जल्दी कामयाबी चाहने वाले कुछ राजनेता यूँ है कि ऐसे मौकों पर कुछ उलटा सीधा बोल देते हैं और चर्चा में आ जाते हैं. लेनिन की मूर्ति पर हमले से शुरू हुआ ये सिलसिला पेरियार, बाबा साहब भीम राव आंबेडकर से होते हुए महात्मा गाँधी तक पहुँच गया है. ज़्यादातर घटनाओं के बारे में भाजपा कार्यकर्ताओं पर आरोप लग रहे हैं वहीँ एक स्थान पर श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति पर भी हमला किया गया.

इस बीच बसपा प्रमुख मायावती ने बड़ा बयान दिया है. मायावती ने कहा कि ऐसी घटनाओं की उनकी पार्टी निंदा करती है. उन्होंने केंद्र और राज्य सरकारों से मांग की कि दलित महापुरुषों के आइकॉन को सुरक्षा ड़ी जाए.उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री ने भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर हमला किया. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की भाषण यहाँ काम नहीं आयेंगे, ऐसे तत्वों से सख्ती से निबटना चाहिए.उन्होंने कहा कि अगर सरकार सख्ती से पेश आएगी तो आगे किसी की हिम्मत नहीं होगी ऐसा करने की.

गौरतलब है कि मंगलवार की रात मवाना में बाबा साहब भीम राव आंबेडकर की मूर्ति को नुक़सान पहुंचाने की कोशिश की गयी. असल में ये सब तब शुरू हुआ जब भाजपा ने त्रिपुरा विधानसभा चुनाव में जीत हासिल की और जीत के जश्न में कथित रूप से भाजपा कार्यकर्ताओं ने रूसी क्रांतिकारी व्लादिमीर लेनिन की मूर्ति को ढहा दिया.इसके बाद भाजपा नेताओं के बयान भी कुछ इस तरह के आये कि ऐसे गुण्डे बदमाशों को शय मिली और पेरियार की मूर्ति पर भी हमला हुआ. इसके बाद तो जैसे देश के अलग अलग हिस्सों में ये सिलसिला ही शुरू हो गया.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *