नीतीश कुमार पर तेजस्वी का बड़ा आरोप-‘साम्प्रदायिक तनाव पैदा कर वोटों की फ़सल काटना चाहते हैं ‘गोडसे भक्त CM’

November 14, 2018 by No Comments

बिहार में बढ़ती अपराधिक घटनाओं और मॉब लिंचिंग जैसी वारदातों पर कार्रवाई नहीं होने को लेकर प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश यादव पर ट्वीट के जरिए जमकर निशाना साधा और एक के बाद एक प्रहार लिए।दरअसल तेजस्वी यादव ने लिखा है कि “जनादेश चोर” सांप्रदायिक मुख्यमंत्री की अंतरात्मा महागठबंधन में रहते हुए घुट रही थी, क्योंकि महागठबंधन में किसी को जिंदा जलवाने और सांप्रदायिक दंगे प्रायोजित करवाने की छूट नहीं थी। हमने दंगाईयों पर नकेल डाल रखी थी।उन्होंने ने गोडसे से तुलना करते हुए कहा कि, गोडसे के उपासक सीएम की नैतिकता अब मजे में है क्योंकि संघी संग है।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर जवाबी हमले करने का कारण क्या है कि,कुछ दिन पहले सीतामढ़ी में 82 वर्षीय बुजुर्ग जैनुल अंसारी को भीड़ ने जमकर पीटा फिर गला रेत सरेआम चौक पर जिंदा जला दिया था।और तो और प्रशासन ने उन्हें 75 किमी दूर दूसरे जिले में दफनाया था।इस मामले में पुलिस ने अब तक कोई कार्रवाई नहीं की है। तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए उनके प्रशासनिक व्यवस्था पर भी आरोप लगाए और कहा कि उनके निकम्मी और नाकार कानून व्यवस्था ने जानबूझकर बुजुर्ग को जिंदा जलाने वाले अपराधियों और दबंगों को इसलिए नहीं पकड़ा क्योंकि उनसे उनकी मिलीभगत है । और तो और उन्होंने नीतीश कुमार को यहां तक कह डाला कि वह वोट बैंक की राजनीति कर रहे हैं और इस प्रकार के संप्रदायिक दंगे चुनाव के कुछ समय पहले राज्य में होने का साफ-साफ मतलब यही है कि ,नीतीश कुमार इसका फायदा लेना चाह रहे हैं और इसमें अपना मत देख रहे हैं।

दूसरी ट्वीट में उन्होंने कहा, ‘जनादेश के चीरहर्ता और सृजन चोर मुखिया आदरणीय नीतीश कुमार की नकारा पुलिस ने अभी तक जानबुझकर 82 वर्षीय बुज़ुर्ग को जिंदा जलाने वाले दंगाईयों को नहीं पकड़ा है ताकि वो दरिंदे फिर किसी और को ज़िंदा जला सके और नीतीश जी चुनाव से पहले सांप्रदायिक तनाव पैदा कर वोटों की फ़सल काट सके.’जनादेश के चीरहर्ता एवं सृजन चोर मुखिया आदरणीय नीतीश कुमार की नकारा पुलिस ने अभीतक जानबुझकर 82 वर्षीय बुज़ुर्ग को ज़िंदा जलाने वाले दंगाईयों को नहीं पकड़ा है ताकि वो दरिंदे फिर किसी और को ज़िंदा जला सके और नीतीश जी चुनाव से पहले सांप्रदायिक तनाव पैदा कर वोटों की फ़सल काट सके।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *