जानिये क्यों दी अरब देश के पूर्व राष्ट्रपति ने “ख़तरनाक” नशा करने की सलाह

September 25, 2018 by No Comments

हमारे देश भारत मे धूम्रपान को लेकर मानक तय हैं,इन्हीं मानकों पर सबको चलना होता है। आपने सार्वजनिक स्थलों पर अक़्सर लिखा देखा होगा कि यहाँ “धूम्रपान निषेध है”। ऐसा करने पर आको जुर्माना भी देना पड़ सकता है। अस्ल मे धूम्रपान स्वास्थ्य के लिये हानिकारक होता है।

इससे कई घातक बीमारियां हो सकती हैं जो जानलेवा भी हो सकती हैं। यह बात जनता को समझाने के लिए सरकार ने ऐसे कदम उठाए हैं। सिग्रेट की पैकेट पर भी चेतावनी लिखा होती है कि यह स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है । ऐसी ही चेतावनी तंबाकू के पैकेट पर भी लिखी होती है। अगर किसी फ़िल्म का कोई किरदार फ़िल्म मे सिग्रेट पीता है या तंबाकू खाता है तो उसके साथ ही फ़िल्म के डायरेक्टर को चेतावनी लिखनी होती है ।

परन्तु दुनिया के सारे देशों मे धूम्रपान को लेकर इतनी सख्ती नही है। कुछ देशों मे नागरिक धूम्रपान के लिए आज़ाद हैं तो कूछ देशों मे इसको प्रोत्साहन भी दिया जाता है।ऐसा ही एक देश है लेबनान। जहाँ के राष्ट्र नायक खुद भी जनता से धूम्रपान की अपील करते हैं। जी हाँ ,मिडिल ईस्ट मॉनिटर की रिपोर्ट के मुताबिक, अरब देश लेबनान के राष्ट्रपति मिशेल सुलेमान ने शुक्रवार को देश के नागरिकों से आहवान किया कि वह हशीश यानी गांजा का धूम्रपान करें। उन्होंने देशवासियों से “हैश संस्कृति” अपनाने के लिए कहा है।

सुलेमान ने ट्विटर पर लिखा कि, “ओह लेबनानीयो ,यह क्या कि हैश की संस्कृति को बदलते हो।ज़रा सोचिए ,हमारा हैश सबसे अच्छा है ।लेबनान, जिन्होंने राष्ट्रों की संस्कृतियों के आधार पर वर्णमाला निर्यात किए हैं, को हैश निर्यात करने के अलावा और अर्थव्यवस्था का समाधान नहीं मिलेगा.”

उनके इस बयान पर सोशल मीडिया ने अविश्वसनीय प्रतिक्रिया व्यक्त की। एक नागरिक ने उनसे पूछा “हम उम्मीद करते हैं कि आप राष्ट्रपति बने रहे ,अब, हमको पता चल गया है कि आप धूम्रपान कर रहे हैं तो ,क्या आप वाकई हमारे गणराज्य के राष्ट्रपति हैं ?

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *