दुनिया की सबसे पुरानी यूनिवर्सिटीज़ में से एक है ये अरब यूनिवर्सिटी

December 6, 2017 by No Comments

मिस्र की राजधानी काहिरा में स्थित अल-अज़हर यूनिवर्सिटी दुनिया की सबसे पुरानी यूनिवर्सिटीज़ में से एक है. सन 970(या 972) के क़रीब इसका निर्माण इस्लामिक लर्निंग के एक सेंटर के रूप में हुआ था जहां पर क़ुरान की तालीम तो दी ही जाती थी साथ ही साथ लॉजिक, चाँद ग्रामर पर भी शिक्षा दी जाती थी. बताया जाता है कि इसमें सन 975 में रमज़ान के महीने में पढ़ाई शुरू हुई.ये दुनिया की ऐसी सबसे पुरानी यूनिवर्सिटियों में से एक है जो अभी तक चल रही है और अरब वर्ल्ड में इस तरह की ये एकमात्र यूनिवर्सिटी है.

हालाँकि इसे यूनिवर्सिटी का दर्जा 1961 में प्राप्त हुआ है लेकिन ये सालों से उच्च शिक्षा का बड़ा सेंटर है. देखा जाए तो इस यूनिवर्सिटी को एक आधुनिक यूनिवर्सिटी में बदलने का श्रेय गमाल अब्देल नासिर को जाता है. उन्होंने यहाँ पहली बार बहुत सी सेक्युलर बातों को जोड़ा. उनके ही समय में यूनिवर्सिटी में व्यापार, अर्थशास्त्र, मेडिसिन वग़ैरा में काम हुआ. इसके बाद यहाँ लड़कियों के पढ़ने की भी व्यवस्था की गयी. आजकल के दौर में अरबिक लिटरेचर के लिए इसका बहुत सम्मान है. यूनिवर्सिटी की लाइब्रेरी मिस्र में दूसरी सबसे महत्वपूर्ण मानी जाती है. पहली महत्वपूर्ण लाइब्रेरी मिस्र में इजिपशियन नेशनल लाइब्रेरी एंड आर्काइव्ज़ को माना जाता है.

आधुनिक अरब इतिहास में इसे राजनीति का भी सेंटर माना जाता रहा है. मुस्लिम ब्रदरहुड के संस्थापक हसन अल बन्ना ने भी यहीं शिक्षा प्राप्त की थी. इसके अलावा जब 2009 में अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा अरब देशों के दौरे पर आये तो उन्होंने अल अज़हर यूनिवर्सिटी का भी दौरा किया.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *