मोदी को रोकने के लिए ही काँग्रेस के साथ हूँ- ओवैसी

November 20, 2018 by No Comments

हैदराबाद: बीजेपी जहां 2019 लोकसभा चुनाव में 2014 से बेहतर प्रदर्शन के दावे कर रही है. वहीं ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुसलमीन (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी का कहना है कि 2019 में बीजेपी की राह आसान नहीं होगी. एआईएआईएम के प्रमुख असदुदीन ओवैसी कांग्रेस और भाजपा दोनों को पसंद नहीं करते हैं, लेकिन वो चाहते हैं कि 2019 के चुनाव में पीएम नरेंद्र मोदी की हार हो। एक मीडिया कार्यक्रम में ओवैसी ने ये बात कही।

उन्‍होंने पीएम मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि देख लेना सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के खिलाफ आपने लोकसभा में जो एससी-एसटी बिल कांग्रेस के सहयोग से पास कराया है वो आपके लिए ‘शाहबानो केस’ जैसा साबित होगा।

दरअसल, इसी साल 20 मार्च को सुप्रीम कोर्ट के एक फैसले के बाद अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (अत्याचारों की रोकथाम) अधिनियम, 1989 (SC/ST Act, 1989) के तहत होने वाली गिरफ्तारियों पर रोक लगा दी गई थी. अदालत ने FIR के बाद गिरफ्तारी से पहले प्राथमिक जांच का प्रावधान कर दिया था. अदालत की ओर से यह भी कहा गया था कि अग्रिम जमानत पर कोई रोक नहीं होगी. इसके बाद केंद्र सरकार ने अनुसूचित जाति एवं जनजाति विधेयक, 2018 को मंजूरी दे दी थी। इसके तहत 1989 के विधेयक में कुछ सुधार किये जाएंगे. उस वक़्त इसी मुद्दे पर बैठक में कांग्रेस नेता मनीष तिवारी, असद्दुीन ओवैसी और सुब्रमण्यम स्वामी में ठन गई. इस मुद्दे पर असदुद्दीन ओवैसी ने कहा था, ‘मोदी सरकार का SC/ST एक्ट लाना शाहबानो मामले जैसा है.

ऐसा इसलिए कि केंद्र सरकार हर मामले में उस दिशा में आगे बढ़ रही है जो देश के लोगों के लिए बुरे दिन लाने वाले साबित होंगे। ओवैसी एक कार्यक्रम में देश के बदलते सियासी हालात और पार्टियों की चुनावी रणनीति पर बोल रहे थे। बता दें कि पत्रकारों के एक प्रश्‍न के जवाब में असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि मोदी सरकार का एससी-एसटी एक्ट लाना शाहबानो मामले जैसा है। कल जो लोकसभा में हुआ, वो आपके लिए शाहबानो मामले की तरह है। इस पर उन्होंने आगे कहा कि सच्‍चाई यह है कि मैं कांग्रेस के खिलाफ हूं। उसे जिताना नहीं चाहता। लेकिन मेरी मजबूरी है कि मैं, पीएम नरेंद्र मोदी की हार को देखना चाहता हूं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *