SC के पटाखा-बैन के फ़ैसले पर त्रिपुरा के राज्यपाल ने दिया विवादित बयान

नई दिल्ली: त्रिपुरा के राज्यपाल अपने विवादित बयान को लेकर पहले भी घिर चुके हैं और इस बीच उन्होंने एक और ऐसा बयान दिया है जिसकी वजह से उनकी आलोचना हो रही है.उच्चतम न्यायलय ने दिवाली पर दिल्ली-एनसीआर में पटाखों पर प्रतिबन्ध लगा दिया है. इसको देखते हुए अलग अलग लोगों ने अलग अलग प्रतिक्रियाएं दी हैं.

त्रिपुरा के राज्यपाल तथागत रॉय ने ट्विटर के ज़रिये सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले पर नाराज़गी जतायी है और इतना ही नहीं उन्होंने इसे हिन्दू धर्म की विशेष भावना से जोड़ कर देखा है. उन्होंने कहा,”कभी दही हांडी, आज पटाखा, कल को हो सकता है कि प्रदूषण का हवाला देकर अवॉर्ड वापसी गैंग हिंदुओं की चिता जलाने पर भी याचिका डाल दे.”

इसके पहले तथागत ने रोहिंग्या लोगों के लिए विवादित टिपण्णी की थी. उन्होंने रोहिंग्या समुदाय को “कचरा” कहा था जिसके बाद उनकी बहुत आलोचना हुई थी.

उनके अलावा दिवाली पर पटाखें ना छुड़ाने को लेकर लेखक चेतन भगत ने भी सुप्रीम कोर्ट के पक्ष से असहमति ज़ाहिर की है. उन्होंने एक ट्वीट कर ये कहा,”सुप्रीम कोर्ट ने दिवाली पर पटाखें बैन कर दिए?पूरा बैन? बिन पटाखों के बच्चों के लिए कैसी दिवाली?”. चेतन ने इसके अलावा ये भी कहा कि दिवाली पर पटाखों पर प्रतिबन्ध लगाना ऐसे है जैसे क्रिसमस में पेड़ पर प्रतिबन्ध लगाना और बक़रीद में बक़री पर. उन्होंने कहा कि रेगुलेट करें लेकिन पाबंदी ना लगाएं और परम्पराओं का आदर करें.

इस बारे में मध्य प्रदेश के गृह मंत्री ने बयान देकर कहा है. उन्होंने कहा,”अगर दिल्ली में कोई कठिनाई है तो मध्य प्रदेश में आ जाएँ दिवाली मनाएं. MP में प्रदूषण लेवल दिल्ली से कम है”

Leave a Reply

Your email address will not be published.