त्रिपुरा की बदहाली के लिए लेफ़्ट सरकार नहीं जनता ज़िम्मेदार: गडकरी

February 12, 2018 by No Comments

त्रिपुरा में विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा और सीपीएम एक दूसरे पर लगातार हमले कर रहे हैं. इसी बीच केन्द्रीय मंत्री और भाजपा नेता नितिन गडकरी ने रविवार के रोज़ सीपीएम सरकार को घेरा. उन्होंने यहाँ कहा कि मानिक सरकार या उनके मंत्रिमंडल को मैं आपके पिछड़ेपन का ज़िम्मेदार नहीं मानता बल्कि आप ख़ुद इसके ज़िम्मेदार हैं क्यूँकि आपने उन्हें लगातार सत्ता में बनाए रखा.

गडकरी ने गोमती में एक जनसभा में कहा, ‘मैं मुख्यमंत्री माणिक सरकार या उनके मंत्रिमंडल को आपके पिछड़ेपन के लिए जिम्मेदार नहीं ठहराऊंगा. बल्कि मैं आपको जिम्मेदार मानूंगा क्योंकि आपने 25 सालों में कोई बदलाव नहीं किया.’ गडकरी ने दावा किया कि त्रिपुरा में अस्पताल तो हैं लेकिन डॉक्टर नहीं हैं..स्कूल हैं लेकिन शिक्षक नहीं हैं. उन्होंने कहा,”यहां अस्पताल हैं, लेकिन डॉक्टर नहीं. आपको स्कूल मिल जायेंगे लेकिन शिक्षक नहीं. राज्य में एक भी अच्छा उद्योग नहीं है और रोजगार सृजन के मुद्दे की अनदेखी बनी हुई है.” उन्होंने कहा,”अगर भाजपा सत्ता में आयी तो वो राज्य में निवेश लाने और युवाओं के वास्ते रोजगार सृजित करने की पहल करेगी.”

त्रिपुरा में पिछले 25 सालों से लेफ्ट की सरकार है. कम्युनिस्ट पार्टी की सरकार में मुख्यमंत्री मानिक सरकार की पॉपुलैरिटी आज भी बहुत है. ऐसा माना जा रहा है कि इस बार चुनाव में सीपीएम का मुक़ाबला भाजपा से होने जा रहा है. भाजपा ने यहाँ ‘चलो पल्टी’ का नारा दिया है, जिसका मतलब है ‘आओ बदलाव लाएं’. 60 सदस्यों वाली त्रिपुरा विधानसभा के लिए 18 फरवरी को चुनाव होने वाले हैं, जिसके लिए भाजपा और आईपीएफटी ने हाथ मिलाया है. 3 मार्च को चुनाव के नतीजे घोषित किए जाएंगे.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *