सऊदी अरब में निकलेंगी 30 हज़ार नौकरियाँ

November 26, 2017 by No Comments

सऊदी अरामको और साबिक ने 20 बिलियन डॉलर का एक समझौता किया है. इस समझौते के मुताबिक़ एक इंडस्ट्रियल काम्प्लेक्स तैयार किया जायेगा जिसकी मदद से 30 हज़ार नौकरियाँ तैयार होंगी. बताया जा रहा है कि ये दुनिया का सबसे बड़ा क्रूड टू केमिकल प्लांट होगा.इसे भी सऊदी अरब की सरकार द्वारा अपनी अर्थव्यवस्था को diversify करने की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है.

साबिक सीईओ अब्दुल्लाह अल बेनयान इस बारे में कहते हैं कि दो बड़ी कंपनियों के साथ आने से सऊदी विज़न 2030 पूरा हो सकेगा. उन्होंने कहा कि इससे अहमारी आर्थिक ग्रोथ मज़बूत होगी और क्वालिटी इन्वेस्टमेंट देश में होगा. इस काम्प्लेक्स में 4 लाख बैरेल क्रूड तेल रोज़ाना प्रोसेस हो सकेग जिससे 9 मिलियन टन केमिकल और बेस आयल का हर साल उत्पादन होगा.ऐसी उम्मीद की जा रही है कि ये 2025 तक चालु हो जाएगा.

साबिक ने 1976 से ही सऊदी अरब के औद्योगीकरण में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी है. इसकी स्थापना एक रॉयल डिक्री के द्वारा की गयी थी. बताया जा रहा है कि इसमें जो भी इन्वेस्टमेंट होगा वो दोनों कम्पनियां मिल कर उठाएंगी. अरामको और साबिक के इस प्रोजेक्ट से 30 हज़ार नौकरियों के दिए जाने की संभावना है. इसके अलावा 2030 तक ये देश की जीडीपी में 1.5% हिस्सेदारी करेगा.

ये ख़बर सिर्फ़ सऊदी अरब ही नहीं बल्कि उन देशों के लोगों के लिए भी अच्छी है जो सऊदी अरब जाकर रोज़गार हासिल करना चाहते हैं. गौरतलब है कि एशिया के कई देशों से सऊदी अरब में लोग कामकाज की तलाश में आते हैं. बड़ी संख्या में भारतीय भी सऊदी अरब नौकरी करने जाते हैं.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *