दबाव में आया USA? वाइट हाउस का दावा-‘नहीं की युद्ध की घोषणा’

उत्तरी कोरिया और संयुक्त राज्य अमरीका के नेताओं की तल्ख़ बयानी के बाद चीन ने बयान दिया है कि कोरियन पेनिन्सुला पर अगर युद्ध होता है तो किसी की भी जीत नहीं होगी. चीन के मुताबिक़ इस युद्ध में दोनों ही देशों के लिए नुक़सान का सौदा है.

अमरीकी डिफेन्स सेक्रेटरी ने इस बीच कहा है कि अमरीका नार्थ कोरिया के मुद्दे को कूटनीति से हल करने की कोशिश करेंगे.

इसके पहले कल नार्थ कोरिया के विदेश मंत्री री योंग हो ने कल कहा था कि संयुक्त राज्य अमरीका ने नार्थ कोरिया के ख़िलाफ़ युद्ध की घोषणा की है. हो ने कहा था कि अब उनका देश अमरीकी बॉम्बर्स को मार गिराने के लिए स्वतंत्र है. उन्होंने कहा था ऐसी सिचुएशन में उनका देश अमरीकी बॉम्बर्स को उस समय भी मार गिराएगा जबकि वो नार्थ कोरिया के एयरस्पेस में नहीं होंगे.

संयुक्त राज्य अमरीका ने नार्थ कोरिया के विदेश मंत्री द्वारा दिए गए बयान पर टिपण्णी करते हुए कहा है कि ये ग़लत इलज़ाम है. वाइट हाउस प्रेस सेक्रेटरी सरह हक्काबी संदेर्स ने पत्रकारों से कहा कि हमने नार्थ कोरिया पर किसी युद्ध की घोसना नहीं की है और ये जो कही जा रही है बिलकुल बेतुकी बात है.उन्होंने कहा कि इंटरनेशनल वाटर्स में किसी भी देश के प्लेन को कोई दूसरा प्लेन शूट नहीं कर सकता.

Leave a Reply

Your email address will not be published.